Expand

मेडिकल यूनिवर्सिटी खोलने बाबत विस में आएगा बिल

मेडिकल यूनिवर्सिटी खोलने बाबत विस में आएगा बिल

- Advertisement -

शिमला। सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा कि हिमाचल में मेडिकल विश्वविद्यालय खोलने के लिए आगामी विधान सभा सत्र में विधेयक लाया जाएगा।

  • राज्य सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे परिवारों के बच्चों तथा आईआरडीपी विद्यार्थियों को मेडिकल शिक्षा निःशुल्क उपलब्ध करवाने का भी निर्णय लिया गया है।

सीएम इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के स्वर्ण जयंती समारोह की अध्यक्षता की। विद्यार्थियों द्वारा शुल्क ढांचे का मामला उठाने पर सीएम ने कहा कि इस मामले की जांच की जाएगी और शीघ्र समाधान निकाला जाएगा।cm
वीरभद्र सिंह ने कहा कि इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज का विस्तार किया जा रहा है और इसका दूसरा परिसर भट्ठा कुफर के नजदीक चमियाणा में 250 बीघा जमीन पर तैयार किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य चिकित्सा लोगों की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को पूरा करने में बहुत महत्त्वपूर्ण है। इसी के दृष्टिगत प्रदेश के दूरदराज एवं ग्रामीण क्षेत्रों में और अधिक नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को खोलने की आवश्यकता है, ताकि ग्रामीण जनसंख्या को उनके घरद्वार के निकट आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सकें।
उन्होंने कहा कि आईजीएमसी का आरंभ एक छोटे अस्पताल के रूप में हुआ था और आज यह देश के प्रतिष्ठित स्वास्थ्य संस्थानों में गिना जाता है। उन्होंने विश्वास जताया कि यह भविष्य में दिन दोगुनी चार चौगुनी उन्नति करेगा।

cm4सीएम कहा कि प्रदेश सरकार चिकित्सा शिक्षा तथा शिक्षा के विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है और राज्य में तीन नए मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं जिनमें से मेडिकल कॉलेज नाहन में कार्य करना आरंभ कर दिया है। उन्होंने कहा कि शेष दो मेडिकल कॉलेज हमीरपुर तथा चंबा भी शीघ्र ही कार्य करना आरंभ कर देंगे।
वीरभद्र सिंह ने इस अवसर पर डॉ. जोगिंद्र पठानिया की औषध-शास्त्र पर आधारित पुस्तक ‘सुश्रुता’ का विमोचन भी किया।

  • उन्होंने आईजीएमसी के संस्थापक शिक्षकों तथा 1966 के प्रथम बैच के प्राचार्य, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों को भी इस अवसर पर सम्मानित किया।

स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि देश के 77 हजार चिकित्सक संयुक्त राज्य अमेरिका में अपनी विशेषज्ञ सेवाएं दे रहे हैं जिनमें से कुछ चिकित्सक इस प्रतिष्ठित संस्थान से उर्त्तीर्ण व यहां सेवाएं भी दे चुके हैं।

  • उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रति व्यक्ति अपनी जेब से स्वास्थ्य पर 797 रुपये कर रहा है। उन्होंने कहा कि केलंग तथा प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों में टेली मेडिसन सेवा आरंभ की गई है।  

सूचना एवं जन संपर्क विभाग द्वारा आईजीएमसी के 50 वर्षों पर आधारित वृतचित्र भी प्रस्तुत किया गया। वृतचित्र में 1966 में पहले बैच से अब तक की उपलब्धियों व साक्षात्कार इत्यादि को भी शामिल किया गया है। इस अवसर पर विशेष अतिथियों ने अपनी सेवाओं के अनुभवों को भी साझा किया।cm2

इस अवसर पर उद्योग मंत्री मुकेश अग्निहोत्री, पर्यटन विकास निगम के उपाध्यक्ष हरीश जनारथा, डेंटल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. आरपी लुथरा, निदेशक मेडिकल शिक्षा प्रो डॉ केपी चौधरी, चिकित्सा अधीक्षक डॉ रमेश चंद, उप चिकित्सक डॉ. राहुल राय, कमला नेहरू अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एलएस चौधरी के अतिरिक्त चिकित्सक एवं विद्यार्थी भी उपस्थित थे।

 

 

https://youtu.be/hQ-Yl9AXpOA

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है