- Advertisement -

हरे धनिये के औषधीय गुण

0

- Advertisement -

वैसे तो हरे धनिये को चटनी बनाने और सब्जियों का जायका बढ़ाने के काम में लाया जाता है। पर इसके कई औषधीय प्रयोग भी हैं जो हमारे काम आ सकते हैं…

  • चेचक से पीड़ित व्यक्त को आंखों खोलनी भी मुश्किल होती हैं। ऐसे में हरे धनिये का रस निकाल कर उससे आंखों को धोने से राहत मिलती है।
  • आंखों में लाली हो तो हरे धनिये का रस निकाल कर उससे आंखों को धोएं।
  • नकसीर की यह एक मुफीद दवा है। नकसीर फूटे तो हरी धनिया पीस कर उसका रस नाक में टपकाएं। माथे पर भी उसका लेप लगाएं। खून बहना बंद हो जाएगा।
  • dhaniya2माइग्रेन के दर्द में राहत पाने के लिए 25 ग्राम सूखा धनिया व 25 ग्राम किशमिश कूट कर 500 ग्राम पानी में भिगो दें दो घंटे बाद मिश्री मिला कर रोगी को पिलाएं आराम आएगा।
  • गंजापन हो तो हरे धनिये का रस बालों में लगाएं।
  • मुंह में छाले हों तो हरा धनिया पीस कर लेप लगाएं आराम मिलेगा।
  • चक्कर आ रहा हो तो हरा धनिया का रस मिश्री मिला कर पिलाने से रोगी को आराम आ जाएगा।
  • अनिद्रा हो तो धनिये के बीज दो चम्मच लेकर पानी के साथ पीस लें। इसे छान कर मिश्री मिलाकर पीने से नींद अच्छी आएगी।

- Advertisement -

Leave A Reply