Covid-19 Update

58,607
मामले (हिमाचल)
57,331
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,096,731
मामले (भारत)
114,379,825
मामले (दुनिया)

मंथनः लगातार बदल रही Media की भूमिका, संवेदनशील होने की जरूरत

मंथनः लगातार बदल रही Media की भूमिका, संवेदनशील होने की जरूरत

- Advertisement -

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर “मीडिया के समक्ष चुनौतियां” विषय जुटा मीडिया जगत

शिमला। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के मौके पर आज शिमला में मीडिया जगत के लोगों ने मंथन किया। “मीडिया के समक्ष चुनौतियां” विषय पर मीडिया कर्मियों ने आज के दौर में मीडिया की भूमिका को और चुनौतीपूर्ण बताया, साथ ही कहा कि आज बदलते परिवेश में मीडिया की भूमिका भी लगातार बदल रही है और इसके लिए मीडिया से जुड़े लोगों को संवेदनशील होने की जरूरत है। मीडिया का स्वरूप बदल रहा है और मोबाइल पर खबरों और सूचनाओं के ऐप हैं और इससे मीडिया का स्वरूप बदल रहा है। कार्यक्रम के मुख्यातिथि वरिष्ठ पत्रकार पीसी लोहमी ने कहा कि आज सबसे बड़ी चुनौती विश्वसनीयता की है। उनका कहना था कि यदि न्यायपालिका और मीडिया की विश्वसनीयता समाप्त हो गई तो बहुत ही घातक होगा। ऐसे में इनकी विश्वसनीयता बनी रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मीडिया के समक्ष चुनौतियों पर एक सत्र में चर्चा करना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रिंट के लिए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया चैलेंज है और इसके लिए सोशल मीडिया चैलेंज है। उनका कहना था कि आज सोशल मीडिया से निपटने को सामूहिक प्रयास की जरूरत है। यह मीडिया इतना प्रभावशाली क्यों हुआ। यह सोचने का विषय है। उन्होंने कहा कि यह आज इसलिए उभरा क्योंकि लोगों को लगा कि इसमें जो बात आ रही है वह सही है। 

पेड न्यूज ट्रेंड खतरनाक

पीसी लोहमी के अनुसार सोशल मीडिया ने आजादी दी है और लोगों को भी लगता है कि वहां जो आ रहा है वह सही है। पेज न्यूज का ट्रेंड भी खतरनाक है और यह यही मीडिया में चल रहा है। जिस दिन अखबार बंटना बंद होगा और महंगा होगा, उस दिन चुनौती और बढ़ेगी। आज कोई भी व्यक्ति सूचना चाहता है और इसके लिए वह कई साइट्स पर जाता है। आज सब कुछ है लेकिन कंटेंट नहीं है और इस पर ध्यान देने की जरूरत है। चुनौती हर तरफ है और ये आएंगी और इससे निपटकर आगे बढ़ना होगा। हिमाचल विवि के प्रोफेसर व राज्यपाल के सलाहकार डॉ. शशिकांत शर्मा ने कहा कि आज समय के साथ मीडिया का दौर भी बदला है । उन्होंने कहा कि शायद इसकी कल्पना कुछ वर्ष पहले तक किसी ने नहीं की थी। उनका कहना था कि सोशल मीडिया के आने से इसका स्वरूप बदला है और सबसे बड़ी चुनौती सोशल मीडिया है। आज मीडिया समाज के लिए भी चुनौती बन गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है