Covid-19 Update

2,01,054
मामले (हिमाचल)
1,95,598
मरीज ठीक हुए
3,446
मौत
30,082,778
मामले (भारत)
180,423,381
मामले (दुनिया)
×

देश के सबसे बड़े मुस्लिम संगठन के महासचिव मदनी बोले- कश्मीर हमारा था, हमारा है, हमारा रहेगा

देश के सबसे बड़े मुस्लिम संगठन के महासचिव मदनी बोले- कश्मीर हमारा था, हमारा है, हमारा रहेगा

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत के सबसे बड़े मुस्लिम संगठन (largest Muslim organization) ‘जमीयत उलेमा-ए-हिंद’ के महासचिव (General Secretary) महमूद मदनी (Mehmood Madni) ने कहा है, ‘कश्मीर (Kashmir) हमारा था, हमारा है और हमारा रहेगा, जहां भारत है वहीं हम हैं।’ मदनी ने आगे कहा कि हम देश की सुरक्षा और अखंडता से किसी प्रकार का समझौता नहीं करेंगे। यही सब प्रस्ताव में पास हुआ है। भारत हमारा देश और हम इसके लिए हमेशा खड़े हैं। कोई भी अलगाववादी अभियान देश और कश्मीर दोनों के लिए घातक है। पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मंच पर यह जताने की कोशिश कर रहा है कि भारतीय मुस्लिम अपने देश के खिलाफ हैं। हम इसकी निंदा करते हैं।

यह भी पढ़ें :-बीएसएफ जवान की बेरहमी से की हत्या, पुलिस को आपसी रंजिश का शक

बताया गया कि इस सिलसिले में मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने गुरुवार को यह प्रस्ताव में पास किया कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। जम्मू-कश्मीर के लोग भी भारतीय ही हैं। वे हमसे किसी प्रकार अलग नहीं हैं। इस प्रस्ताव में आगे कहा गया कि हमें महसूस होता है कि कश्मीरी लोगों के मानव अधिकारों और लोकतंत्र का सरंक्षण हमारा राष्ट्रीय कर्तव्य है। फिर भी हम विश्वास करते हैं कि भारत के साथ मिलने में ही उनका विकास और कल्याण है। हालांकि कुछ असामाजिक, आपराधिक तत्व और पड़ोसी देश कश्मीर को तबाह करने की साजिश कर रहे हैं। इसके अलावा देशभर में एनआरसी लागू करने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘मेरा जी चाहता है कि इसे सारे मुल्क में लागू करने की मांग करूं, जिससे पता चल जाएगा कि घुसपैठिए कितने हैं।’


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है