Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

Nirbhya: SC में वकील की दलील- ‘ठीक नहीं दोषी विनय की मानसिक स्थिति’, माफ हो सजा

Nirbhya: SC में वकील की दलील- ‘ठीक नहीं दोषी विनय की मानसिक स्थिति’, माफ हो सजा

- Advertisement -

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप मामले (Nirbhya Gangrape Case) में दोषी सजा से बचने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। इसी कड़ी में राष्ट्रपति के द्वारा दया याचिका खारिज करने के बाद सुप्रीम कोर्ट (Supreme Coury) में दलील दी गई है कि दोषी विनय की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है जिसके चलते उसकी फांसी की सजा माफ होनी चाहिए। हालांकि, इस याचिका पर फैसला शुक्रवार तक के लिए सुरक्षित रख लिया गया है।

यह भी पढ़ें: मंत्री जी! Manikarn Valley में रूपी नौतोड़ पट्टे को लेकर हो रहा फर्जीबाड़ा, मांगी जांच

शुक्रवार को दोषी के वकील एपी सिंह ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि विनय की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। उसका कहना था कि दोषी विनय मानसिक रूप से प्रताड़ित होने की वजह से विनय मेंटल ट्रोला से गुजर रहा है, इसलिए उसको फांसी नहीं दी जा सकती है। वकील ने कहा कि मेरे क्लाइंट को पहले ही कई बार जेल प्रशासन की ओर से मानसिक अस्पताल (mental hospital) में भेजा जा चुका है। वकील ने तर्क दिया कि किसी भी मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति को फांसी नहीं दी जा सकती। एपी सिंह ने कहा यह विनय शर्मा के जीने के अधिकार आर्टिकल 21 का हनन है। वहीं, दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने को लेकर भी सोमवार को सुनवाई होगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है