×

आसमान से गर्म गुबार, मिनी स्विटजरलैंड सैलानियों से गुलजार

आसमान से गर्म गुबार, मिनी स्विटजरलैंड सैलानियों से गुलजार

- Advertisement -

पुनीत शर्मा/चंबा। ये वादियां ये फ़िज़ाएं बुला रही हैं तुम्हे, खामोशियों की सदाएं बुला रही हैं तुम्हे। जी हां, गाना काफी पुराना है मगर तपते मैदानी क्षेत्रों के लोगों के लिए मौजूदा समय में ख़ासा प्रासंगिक है। यहां की वादियां तथा फिजाएं यायावरों को खासा आमंत्रित कर रही हैं। ग्लोबल वार्मिंग (Global warming) से अब पहाड़ों की आबोहवा भी खासी बदली है। जिले के पहाड़ी स्थलों में भी गर्मी का पारा चढ़ा है। यही वजह है कि मिनी स्विटज़रलैंड कहलाने वाले खज्जियार (Khajjiar) का तापमान 28 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया है बावजूद इसके देवभूमि के पर्यटन स्थल देवदार से भरे जंगलों के दम पर गर्मी से त्रस्त होकर प्रकृति और पहाड़ों की शरण में आने वालों पर ठंडी राहत बरसा रहे हैं।


यह भी पढ़ें :-अगले 48 घंटों में देश के इन हिस्सों में होगी बारिश, यहां जानें हाल-ए-हिमाचल

 

 

देश प्रचंड गर्मी की चपेट में है, वहीं हिल स्टेशनों में काफी तादाद में पर्यटक पहुंच रहे हैं। जीवंत हो उठी किसी कलाकार की कृति की मानिंद सुंदर तथा अटल सुंदरता और देवदार के विशाल दरख्तों से शिंगारित खज्जियार सदियों से यायावरों को राहत दे रहा है। यहां के स्थानीय लोगों की अगाध आस्था के प्रतीक खज्जी नाग मंदिर के नाम से विख्यात इस पर्यटक स्थल का विश्व के पर्यटन मानचित्र पर अपना भी रुतबा है। मैदानी क्षेत्रों में शरीर को तपाती गर्मी के चलते पर्यटक यहां उमड़ रहे हैं जिससे ट्रैफिक जाम (Traffic jam) जैसी स्थिति पैदा हो रही है। स्विटज़रलैंड जैसी खूबसूरती संजोए दुनिया के बेहतरीन 160 पर्यटन स्थलों में शुमार खज्जियार पर्यटकों से गुलज़ार है। स्विट्ज़रलैंड के राजदूत ने 1992 में खज्जियार की खूबसूरती को देख कर इसे मिनी स्विटज़रलैंड की उपाधि दी थी।

दुनिया में खज्जियार समेत कुल 160 मिनी स्विटज़रलैंड हैं। खज्जियार तथा विख्यात पर्यटन नगरी डलहौज़ी के बीच स्थित ‘कालटोप वन्य जीव अभ्यारण्य’ भी पर्यटकों को राहत दे रहा है। खज्जियार हिमाचल प्रदेश की चंबा वैली (Chamba Valley) में स्थित एक मनमोहक पहाड़ी स्थान है। चीड़ और देवदार के ऊंचे-लंबे, हरे-भरे पेड़ों के बीच बसा खज्जियार दयहाँ आकर पर्यटकों को आत्मिक शांति और मानसिक सुकून मिलता है। यदि अप्रैल के बाद मई-जून की झुलसाने वाली गर्मी से छुटकारा पाना हो तो यह स्थान पर्यटकों के लिए बिलकुल राहत जैसा ही है। खज्जियार के मौसम में एक अलग ही मस्ती है, नजारों में अलग ही सौंदर्य है। यही कारण है कि आस-पास के लोग तो यहाँ पिकनिक मनाने के लिए आ ही जाते हैं, दूर-दूर से बार-बार आने वाले पर्यटकों की संख्या भी कम नहीं है।

आप अगर खज्जियार आएं तो घोड़े की सवारी बिलकुल न भूलें। बादल, सुल्तान, तूफान, चेतक, राजा और रेशमा सरीखे नामों वाले घोड़े यहां आपको कुदरती नजारों के बीचोंबीच गुजरने का अद्भुत रोमांच देंगे जो आप ताउम्र न भूल पाएंगे। चुवाड़ी क्षेत्र से संबंधित रिंकू कई साल से यहां पर्यटकों को घोड़े की सवारी करवाकर अपनी आजीविका अर्जित कर रहे हैं। इसके अलावा रोलिंग बॉल तथा खज्जियार के विशाल हरियल मैदान में पैराग्लाइडिंग (Paragliding) करने का भी अपना रोमांच है। खास बात यह कि प्रतिबंधित होने के बावजूद यहां के पहाड़ों पर पैराग्लाइडिंग जारी है। इसके अलावा चुवाड़ी जोत के रास्ते भी काफी सैलानी खज्जियार पहुँच रहे हैं। लिहाज़ा मैदानी क्षेत्रों में गर्मी के चढ़ते पारे के बीच पर्यटक मिनी स्विट्ज़रलैंड में उमड़ रहे हैं।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है