Covid-19 Update

1,99,430
मामले (हिमाचल)
1,92,256
मरीज ठीक हुए
3,398
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

Video: महिला कॉन्स्टेबल ने मंत्री के बेटे को सिखाया कानून का सबक; फिर दे दिया इस्तीफा

Video: महिला कॉन्स्टेबल ने मंत्री के बेटे को सिखाया कानून का सबक; फिर दे दिया इस्तीफा

- Advertisement -

सूरत। गुजरात (Gujarat) स्थित सूरत (Surat) में सत्ता के नशे में चूर मंत्री के बेटे की सनक पर एक महिला पुलिसकर्मी की सख्ती भारी पड़ी है। विवादों में रहने वाले गुजरात के स्वास्थ्य राज्यमंत्री किशोर कानाणी के पुत्र प्रकाश सहित सात युवकों रात में लॉकडाउन (Lockdown) तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। सूरत के वराछा इलाके में मंत्री का बेटा बिना मास्क लगाए घूमता हुआ मिला। इसी पर ड्यूटी पर तैनात लेडी कॉन्स्टेबल (Lady constable) ने मंत्री के बेटे की क्लास लगा दी। इस घटना का वीडियो (Video) सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। कर्फ्यू का उल्लंघन करने के मामले में स्वास्थ्य राज्यमंत्री किशोर कानाणी के पुत्र प्रकाश सहित सात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं महिला कांस्टेबल को मंत्री के बेटे से मिली धमकी के बाद अपने पद से इस्तीफा देने पर मजबूर होना पड़ा है।

वी सपोर्ट सुनीता यादव के बैनर तले जनता का प्रर्दशन

सहायक पुलिस आयुक्त (विशेष शाखा) पीएल चौधरी ने कहा कि महिला कांस्टेबल और मंत्री के बेटे के बीच हुई बहस की एक क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस क्लिप में सुना जा सकता है कि मंत्री कुमार कनानी का बेटा प्रकाश महिला कांस्टेबल सुनीता यादव के साथ बहस कर रहा है और अपनी राजनीतिक पैठ को लेकर उसे धमका रहा है। उन्होंने बताया कि इस घटना के बाद सुनीता ने अपने शीर्ष अधिकारियों से बातचीत की। जहां अधिकारियों ने मामले को रफा दफा करने और घटनास्थल से जाने को कहा। इस घटना से महिला कांस्टेबल खासा निराश हो गई और उसने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इधर, इस घटना के बाद सूरत व अन्य शहरों में लोगों ने वी सपोर्ट सुनीता यादव के बैनर लेकर प्रर्दशन भी किया। इससे पहले मंत्री ने अपने पुत्र का बचाव करते हुए कहा कि उनके खिलाफ राजनीति के साजिश की जा रही है।

यह भी पढ़ें: गुजरात में 1/3 बहुमत के साथ सरकार बना रहे थे हार्दिक पटेल; Troll होने पर डिलीट किया Tweet

यहां जानें कैसे शुरू हुआ पूरा बवाल

इन दिनों कोरोना वायरस की चलते सूरत में रात को कर्फ्यू लगाया जाता है। इसी दौरान बिना मास्‍क के घूम रहे कुछ लड़कों को महिला पुलिसकर्मी ने रोक लिया। पकड़े गए लोगों ने अपने दोस्त मंत्री महोदय के बेटे को फोन किया। तुरंत मंत्री जी का बेटा अपनी कार लेकर दोस्तों को छुड़ाने आ गया। वो जिस कार से आया था, उसमें विधायक का बोर्ड लगा था। फिर क्या था महिला कॉन्टेबल सुनीता यादव ने मंत्री महोदय के बेटे का गुरुर तोड़ा। उन्होंने गाड़ी से एमएलए का बोर्ड हटवा दिया। इसके बाद उनके बेटे ने अपने पिता और स्वास्थ्य राज्यमंत्री कुमार कानाणी को फोन किया। मंत्री महोदय ने कह दिया, ‘बेटा है मेरा कार लेकर जा सकता है’। फिर क्या था कॉन्स्टेबल ने पूछा कि क्या अगर कार पर एमएलए भी लिखा हो तो वो उस गाड़ी से घूम सकता है। इसके बाद मंत्री ने कहा जो कानूनी तौर पर होता है वो आप करें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है