Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

Himachal के जंगलों में 400-500 से ज्यादा काट डाले पेड़, कुछ को जला डाला

Himachal के जंगलों में 400-500 से ज्यादा काट डाले पेड़, कुछ को जला डाला

- Advertisement -

शिमला। जिला शिमला के ठियोग क्यारी जंगल में वन माफिया राज (Forest mafia) बढ़ता जा रहा, यहां 400-500 से अधिक पेड़ काटे गए हैं। सीपीआईएम नेता एवं विधायक राकेश सिंघा (MLA Rakesh Singha) ने प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार इस माफिया राज को नहीं रोकती तो बड़ा जन आंदोलन होगा। ठियोग के विधायक राकेश सिंघा ने आज शिमला में पत्रकारवार्ता के दौरान प्रदेश सरकार एवं उनके तंत्र को चेतावनी देते हुए यह मांग की कि शिमला जिला के ऊपरी क्षेत्र के ठियोग, सराज, क्यारी, चक के जंगलों में पौधरोपण की आड़ में कुछ लोगों ने ना केवल पेड़ कटान किया बल्कि उन्हें उखाड़ फेंका और जला दिया जो कि हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय (Himachal Pradesh High Court) के आदेशों की भी अवहेलना है। सिंघा ने कहा कि जुलाई में स्थानीय लोगों के माध्यम से डीएफओ को ज्ञापन सौंपा जाएगा और मांग की जाएगी कि कोर्ट की अवहेलना के चलते पूरे क्षेत्र को सील किया जाए जब तक पूरे मामले की जांच होती है।

यह भी पढ़ें: आपात काल की यादेंः जब डॉ बिंदल को डाला था कुरुक्षेत्र की जेल में

उन्होंने कहा कि ज्ञापन (Memorandum) के माध्यम से प्रदेश सरकार से मांग की जाएगी कि वह ऐसी गतिविधियों को रोके और स्थानीय जनता को उनका हक दिलाए वरना परिणाम झेलने के लिए तैयार रहे। उन्हेंने यह भी कहा कि यदि सरकार कुछ नहीं करती है तो प्रदेश सरकार के खिलाफ एक बड़ा जन आंदोलन किया जाएगा। शिमला जिला के ठियोग, सराज, क्यारी, चक के जंगलों में हो रहे वन कटान को लेकर स्थानीय जनता में बड़ा आक्रोश है। इसके चलते वहीं की जनता ने यह फैसला लिया है कि अगर प्रदेश सरकार और उसका तंत्र जंगल में चल रहे वन वाफिया के खिलाफ कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाती है और वहां की जनता को उनका हक नहीं दिलाती है तो स्थानीय जनता ठीक उसी तरह बड़ा जन आंदोलन करेगी जिस तरह कांग्रेस काल में गुड़िया को न्याय दिलाने के लिए किया था।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है