- Advertisement -

Budget Session: कोच के पद भरने को आरएंडपी रूल बदलने की जरूरत, 69 NH चुनावी स्टंट

विधायक रामलाल ठाकुर ने बजट चर्चा में भाग लेते उठाए मुद्दे

0

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा, शिमला। विधायक राम लाल ठाकुर ने कहा कि खेल विभाग में कोच के पद भरने को आरएंडपी रूल बदलने की जरूरत है। उन्होंने अली खड्ड के तटीकरण की मांग की और कहा कि इसकी सख्त जरूरत है, क्योंकि यह 15 से 20 फीट नीचे चली गई है। उन्होंने 69 एनएच को बीजेपी का चुनावी स्टंट करार दिया। उन्होंने सुझाव दिया कि छोटे-छोटे गौ सदन के स्थान पर बड़े-बड़े गौ सदन बनाए जाए, ताकि उनका रखरखाव ठीक से हो सके। उन्होंने कहा कि फोर लेन का कार्य रुका हुआ है और गोबिंद सागर पर पुल नहीं बन रहा है और फोर लेन की सुरंगों का कार्य भी रुका हुआ है। उन्होंने कहा कि एम्स के लिए बीजेपी सांसद कहते हैं कि अभी कोई पैसा नहीं आया है। ऐसे में सीएम बताए कि मामला क्या है। वह बजट चर्चा में भाग लेते हुए बोल रहे थे।

शराब भी पुरानी, बोतल भी पुरानी और केवल लेबल ही बदला

कांग्रेस सदस्य ठाकुर रामलाल ने सीएम जयराम ठाकुर द्वारा पेश किए गए बजट में कुछ भी नया नहीं हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने 78 पेज का जो बजट बीते वर्ष पेश किया था, वही, सीएम जयराम ठाकुर द्वारा पेश किए गए 84 पन्नों के पेज में शामिल है। ऐसे में इस बजट में कुछ भी नया नहीं है। उनका कहना था कि शराब भी पुरानी है और बोतल भी पुरानी है और केवल बोतल का लेबल ही बदला है।  बजट चर्चा में हिस्सा लेते हुए ठाकुर ने कहा कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने देश और प्रजातंत्र को बहुत कुछ दिया है। आज देश में माहौल बदला है और पुराने लोगों से किनारा किया जा रहा है। उनका कहना था कि बीजेपी वरिष्ठ नेताओं से किनारा कर रही है। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत स्वार्थ से ऊपर उठकर चलने की जरूरत है। उन्होंने नीति आयोग पर भी सवाल उठाए और कहा कि नीति आयोग के तहत राज्यों को जो हिस्सा मिलना है वह नीति आयोग को भी पता नहीं है। उनका कहना था कि शायद यह पीएम कार्यालय को ही पता होगा।

नई बीजेपी सरकार को भी केंद्र से कुछ नहीं मिलने वाला

ठाकुर ने कहा कि राज्य की नई बीजेपी सरकार को भी केंद्र से कुछ मिलने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष फरवरी में लोकसभा चुनाव का कार्यक्रम जारी होगा और इसे देखते हुए केंद्र की नजर इस छोटे से राज्य पर नहीं होगी, बल्कि उन राज्यों पर होगी, जहां से ज्यादा सांसद हैं। उनका कहना था कि सत्ता से बाहर रहकर कर्ज का विरोध करने वाले आज खुद कर्ज ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि बजट दस्तावेज में 39.56 फीसदी राशि ही विकास और अन्य कार्यों के लिए है। उन्होंने इस कम हिस्सा बताते हुए कहा कि इससे बजट में की गई घोषणा को पूरा नहीं किया जा सकता। इन घोषणाओं को पूरा करने के लिए ऋण लेना पड़ेगा।

बैकडोर एंट्री पर विधायक ने घेरी पूर्व सरकार

बीजेपी सदस्य सुखराम चौधरी ने बजट चर्चा में हिस्सा लेते हुए पूर्व कांग्रेस सरकार पर हमले बोले। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार ने पीटीए के तहत बैकडोर से एंट्री का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को सभी सेलेक्शन बोर्ड और सर्विस कमीशन पर विश्वास नहीं रहा और एसएमसी आधार पर भर्तियां की गई।
सुखराम ने कहा कि सिरमौर के रेणुका का हवाला दिया और एसएमसी के तहत विभिन्न भर्तियों पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को अफसरों पर विश्वास नहीं था, इसलिए ही रिटायर्ड अफसरों की सेवाएं ली। उन्होंने कहा कि इससे अफसरों और कर्मियों में निराशा का माहौल बना और बीजेपी को जनता ने समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि सीएम जय़राम ठाकुर ने अच्छा बजट पेश किया है। उन्होंने गुड़िया मामला उठाते हुए कहा कि पूर्व सरकार में कानून व्यवस्था की हालत खराब थी। बीजेपी सदस्य ने कहा कि जितना ऋण लिया गया है, उसका 40 फीसदी तो पूर्व कांग्रेस सरकार ने ही लिया है। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह से राज्य की जनता को विकास को लेकर काफी उम्मीदें थी, लेकिन पूर्व सरकार के कार्यकाल में राज्य में विकास रुका रहा।

- Advertisement -

Leave A Reply