Covid-19 Update

57,162
मामले (हिमाचल)
55,672
मरीज ठीक हुए
958
मौत
10,636,056
मामले (भारत)
98,348,639
मामले (दुनिया)

Ravi ने पूछा, आखिर क्यों आते थे CM मेरे खोखे पर

Ravi ने पूछा, आखिर क्यों आते थे CM मेरे खोखे पर

- Advertisement -

धर्मशाला। विधायक रविंद्र सिंह रवि का कहना है कि सीएम वीरभद्र सिंह ने देहरा में उनके खिलाफ जिस भाषा का प्रयोग किया उसके लिए वह सीएम का आभार व्यक्त करते हैं।सीएम ने कहा था कि वे उन्हें को तब से जानते हैं जब से वे राजनीति में ही नहीं थे। रवि ने सीएम से पूछा है कि सीएम यह बताने का कष्ट करें कि आखिर वे मेरे खोखे पर क्यों आते थे और किस आधार पर मुझे जानते थे….. मैं सम्मान से जीता हूं और कोई जांच एजेंसी मेरे पीछे नहीं लगी है।

  • कहा, CM ने कांगड़ा में अपनाई Divide And Rule की पॉलिसी
  • 6 बार सीएम बनने का घमंड, अनुभव तो है पर नकारात्मक ज्यादा
  • सीएम की अभद्र भाषा पर विधानसभा में बीजेपी देगी करारा जवाब

जिस तरह की भाषा का प्रयोग सीएम कर रहे हैं उसका जवाब बीजेपी आगामी सत्र में देगी। देहरा से बीजेपी विधायक रविंद्र रवि ने धर्मशाला में पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि जिला कांगड़ा का प्रदेश की राजनीति में सबसे अहम रोल है और सरकार बनाने और गिराने में इस जिला की भूमिका किसी से छिपी नहीं है।

इस जिला को अपने काबू में रखने के लिए सीएम वीरभद्र सिंह ने फूट डालो और शासन करने की नीति अपना रखी है। यही कारण है कि जिला में कांग्रेस के विधायक और मंत्री आपस में उलझते रहते हैं। रवि ने कहा कि सीएम अपनी सत्ता बचाने के लिए अपने मंत्रियों को प्रताड़ित करते रहते हैं और उनमें फूट डलवाते हैं। उन्होंने कहा कि सीएम को इस बात का घमंड हो गया है कि वह 6 बार सीएम बन चुके हैं और 7वीं बार सीएम बनने के वह दावे करते हैं। रवि का कहना है कि यह सच है कि जितनी हमारी उम्र है उतना सीएम का राजनीतिक अनुभव है, लेकिन यह अनुभव सकारात्मक की बजाय नकारात्मक ज्यादा है। रविंद्र रवि ने कहा कि जिस अभद्र भाषा का प्रयोग सीएम करते हैं वैसी भाषा शायद ही देश में कोई नेता बोलता हो। कोई भी सत्र शुरू होना हो तो सीएम की अभद्र भाषा शुरू हो जाती है और वह खुद को बहुत बड़ा गुंडा बताना शुरू कर देते हैं। रवि ने आरोप लगाया कि सीएम को कहकर मुकरने की आदत है। ऐसा ही उन्होंने धर्मशाला को राजधानी बनाने के बारे में भी किया है। नोटिफिकेशन जारी करने के बाद भी उसे हटा लिया गया है और इसका जवाब सीएम को देना ही होगा।

CM ने रुकवाई Dehra में CU जमीन की निशानदेही

धर्मशाला। सेंट्रल यूनिवर्सिटी के निर्माण में बीजेपी के कुछ नेता अड़ंगा फंसा रहे हैं। इस तरह की बयानबाजी सीएम वीरभद्र सिंह कई वर्षों से करते आ रहे हैं और प्रदेश की जनता को गुमराह कर रहे हैं। सच्चाई यह है कि सीएम वीरभद्र सिंह खुद ही सीयू के निर्माण में रोड़े अटकाने का काम कर रहे हैं। देहरा में सीयू के नाम हस्तांतरित हुई जमीन की निशानदेही नहीं होने देने से सीएम की यह करनी सामने आती है। यह आरोप देहरा से बीजेपी विधायक रविंद्र रवि ने धर्मशाला में पत्रकार वार्ता के दौरान लगाया। रवि ने एक पत्र दिखाते हुए कहा कि यह पत्र सीयू प्रशासन ने जिला कांगड़ा प्रशासन को लिखा था। 25 नवम्बर 2016 को लिखे इस पत्र में डीसी कांगड़ा और एसडीएम देहरा से आग्रह किया गया है कि देहरा में सीयू के साउथ कैंपस के लिए जो भूमि हस्तांतरित हो चुकी है, जल्द उसकी निशानदेही करवाई जाए। ढाई महीने से भी अधिक समय बीत जाने के बाद भी उक्त जमीन की निशानदेही नहीं हो सकी है। रवि ने आरोप लगाया कि जब उन्होंने जिला प्रशासन से इस बारे में बात की तो प्रशासन के अधिकारियों का कहना था कि सरकार और खासकर सीएम ने यह निशानदेही करने से मना कर रखा है। रवि ने कहा कि यह कृत्य सीएम की सच्चाई को बेनकाब करने के लिए काफी है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है