Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

Lockdown के बीच मोहम्मद शमी ने दिखाई दरियादिली; BCCI ने की तारीफ तो बोले- यह तो हमारा फर्ज था

Lockdown के बीच मोहम्मद शमी ने दिखाई दरियादिली; BCCI ने की तारीफ तो बोले- यह तो हमारा फर्ज था

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के बीच प्रवासी मजदूरों की व्यथा से विचलित भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) ने अपने घरों को लौट रहे इन प्रवासियों की मदद के लिए आगे आए हैं। जिसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने भी क्रिकेटर मोहम्मद शमी की तारीफ की है। बता दें कि शमी ने अपने घरों को लौट रहे इन प्रवासियों को खाने के पैकेट और मास्क बांटना शुरू किया है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के साहसपुर में अपने घर के पास गरीब प्रवासी मजदूरों के लिए खान-पान वितरण केंद्र बनाए हैं।

शुक्रिया बीसीसीआई, यह तो मेरा फर्ज था

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने मंगलवार को एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें शमी अपने घर के पास लोगों को जरूरत का सामान मुहैया करवा रहे हैं। शमी ने टैंट लगा रखा है जहां वह लोगों को भोजन और मास्क दे रहे हैं। वह बसों के यात्रियों को भी ये सामान दे रहे हैं। बोर्ड ने इसके साथ कैप्शन लिखा, ‘जब भारत कोरोना से लड़ रहा है मोहम्मद शमी आगे आकर लोगों की मदद कर रहे हैं। वह उत्तर प्रदेश में अपने घर सहसपुर के पास नैशनल हाईवे 24 पर लोगों को खाने के पैकेट और मास्क बांट रहे हैं। इस जंग में हम सब साथ हैं।’ वहीं बीसीसीआई के इस ट्वीट पर शमी ने भी रिएक्ट किया है। शमी ने शुक्रिया अदा करते हुए रिप्लाई किया- शुक्रिया बीसीसीआई, यह तो मेरा फर्ज था।

एक शख्स उनके फॉर्महाउस के दरवाजे पर आकर बेहोश हो गया था

इस समय शमी अपने गांव में हैं और लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर भी एक्टिव रहकर वीडियो और फोटो पोस्ट करते रहते हैं। कुछ दिन पहले युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) के साथ लाइव चैट में शमी ने कहा था कि जब मजदूर लोग पैदल ही अपने घर जाने लगे थे तो एक शख्स उनके फॉर्महाउस के दरवाजे पर आकर बेहोश हो गया था। शमी ने कहा कि फिर हमने उस शख्स को खाना खिलाया और और उसकी मदद की। शमी ने कहा कि वो शख्स बिहार जाने के लिए पैदल ही निकल पड़ा था। चैट सेशन में शमी ने खुलासा किया कि वो इस मुश्किल वक्त में गरीबों को चावल राशन के तौर पर दे रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है