Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

छात्राओं से छेड़छाड़, सूचना के बाद भी नहीं पहुंची Police

छात्राओं से छेड़छाड़, सूचना के बाद भी नहीं पहुंची Police

- Advertisement -

Molestation: रेवाड़ी/मोहिंद्र भारती। उत्तर प्रदेश के सीएम आदित्यनाथ योगी ने शपथ लेते ही बेशक रोमियों पर नकेल कस दी हो, लेकिन प्रदेश में रोमियो पूरी तरह से सक्रिय हैं। इन मनचलों की वजह से छात्रों का स्कूल-कॉलेज जाना भी मुश्किल हो गया है। इसका ताजा उदाहरण है रेवाड़ी-बोलनी के बीच चलने वाली बस।


इस बस में छात्राओं के साथ अक्सर छेड़छाड़ होती रहती है। मनचलों ने आज भी छात्राओं के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। इस पर एक छात्रा ने बहादुरी दिखाते हुए मनचले को थप्पड़ भी जड़ दिया। इसका अन्य मनचलों ने विरोध किया और छात्रा की जमकर खिल्ली भी उड़ाई। मामला बढ़ता देख बस चालक ने बस रोक दी और इसकी सूचना महिला हेल्पलाइन 1091 पर दी, लेकिन पुलिस के कानों में जूं तक नहीं रेंगी। छात्राओं ने कहा कि ये आज का वाकया नहीं है। उन्हें रोज इस मुश्किल का सामना कर कॉलेज जाना पड़ता है।

Molestation: छात्राओं ने कहा, बस में रोज होती है छेड़छाड़

छात्राओं ने यह भी कहा कि बस में भीड़ होने के कारण मनचले उनके साथ आसानी से छेड़छाड़ कर लेते हैं। वहीं, बस चालक व परिचालक मानते हैं कि बस में छेड़छाड़ आम बात है। अगर वे विरोध करते हैं तो उनके साथ भी मारपीट की जाती है। वे कई बार इसकी शिकायत कर चुके हैं लेकिन कुछ नहीं हुआ। आज भी चालक दोनों छात्राओं को लेकर पुलिस चौकी पहुंचा, जहां से उन्हें अधिकारियों के पास भेज दिया गया। अधिकारी भी अपनी-अपनी सीटों से नदारद थे। थक-हार कर छात्राएं वापस ही लोट गईं। जहां प्रदेश सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देती नहीं थकती वहीं धरातल में तस्वीर कुछ और ही है। आज भी बेटी घर से निकलते हुए सुरक्षित नहीं है तो फिर ये नारा कैसे सार्थक होगा। अब देखना होगा कि क्या सरकार व प्रशासन भय के साये में कॉलेज जा रही छात्राओं को सुरक्षा प्रदान करेगा या फिर छात्राएं स्कूल-कॉलेज छोड़ घर बैठने को विवश होंगी।

डंफर-ट्राला में टक्कर, 1 की मौत, 1 घायल

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है