Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

Himachal के 11 जिलों की 91 तहसीलों, उप.तहसीलों में वानर वर्मिन घोषित

Himachal के 11 जिलों की 91 तहसीलों, उप.तहसीलों में वानर वर्मिन घोषित

- Advertisement -

शिमला। वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर  (Forest Minister Govind Singh Thakur) ने जानकारी दी कि प्रदेश के 11 जिलों की 91 तहसीलों एवं उपतहसीलों  (91 Tehsils and Sub-Tehsils of 11 Districts) में वानरों को एक वर्ष की अवधि के लिए पीड़क जंतु (वर्मिन) घोषित किया गया है।
उन्होंने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने यह मामला बार-बार केंद्र सरकार के समक्ष रखा और कहा कि हिमाचल प्रदेश में वानरों के कारण मनुष्य एवं फसलों को क्षति पहुंच रही है तथा इस समस्या के निपटारे के लिए वानरों को पीड़क जन्तु (Wild Animals) घोषित करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में केंद्रीय सरकार ने 14 फरवरी 2019 को अधिसूचना जारी कर वानरों को 91 तहसीलों एवं उपतहसीलों में पीड़क जन्तु घोषित कर दिया है, जिसका प्रकाशन भारत के राजपत्र में 21 फरवरी, 2019 को किया गया। यह अधिसूचना एक वर्ष की अवधि तक लागू रहेगी।
याद रहे कि 24 मई, 2016 को वानरों को हिमाचल के दस जिलों की 38 तहसीलों एवं उपतहसीलों मे पीड़क जंतु घोषित किया गया था, जिसकी अवधि को 20 दिसम्बर, 2017 में एक वर्ष के लिए बढ़ाई गई थी। ठाकुर ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में वन क्षेत्रों के बाहर वानरों द्वारा मनुष्यों एवं खेती को हानि पहुंचाने के मामले सामने आ रहे थे, इसलिए इस समस्या को प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार के समक्ष रखा। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार के अथक प्रयासों के फलस्वरूप 91 तहसीलों एवं उपतहसीलों में वानरों को पीड़क जन्तु घोषित करवाने में सफलता हासिल हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि इससे सभी प्रदेशवासियों विशेषकर किसानों एवं बागवानों को राहत मिलेगी।


हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें https://goo.gl/g4JFMo

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है