×

Bali के सम्मेलन को Virbhadra की लंगड़ी, Indiscipline बताया

Bali के सम्मेलन को Virbhadra की लंगड़ी, Indiscipline बताया

- Advertisement -

लोकिंदर बेक्टा/ शिमला। युवाओं-महिलाओं की समस्याओं को लेकर सम्मेलन करने की तैयारी कर बैठे परिवहन मंत्री जीएस बाली की जद्दोजहद को सीएम वीरभद्र सिंह अनुशासनहीनता मानते हैं। सीएम का मानना है कि सरकार की इजाजत के बिना ऐसे सम्मेलन नहीं हो सकते। यदि कोई ऐसा करता है तो वह घोर अनुशासनहीनता होगी। मीडिया से अनौपचारिक मुलाकात में वीरभद्र सिंह ने कहा कि उन्हें भी सूचना मिली है कि सीपीएस राजेश धर्माणी भी कोई ऐसा सम्मेलन करने जा रहे हैं। यदि ऐसा होता है तो वह अनुशासनहीनता के दायरे में आता है।


  • कहा,सरकार की इजाजत बिना नहीं हो सकते ऐसे सम्मेलन
  • अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी
  • आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता दें

उन्होंने कहा कि अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं होगी।  याद रहे कि दो दिन पहले परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा था कि वह युवाओं और महिलाओं की समस्याओं को लेकर जिला व राज्य स्तरीय सम्मेलन करने जा रहे हैं। उनका कहना था कि नगरोटा बगवां में जिला स्तरीय और धर्मशाला के पुलिस मैदान में राज्य स्तरीय सम्मेलन होगा। धर्मशाला में सम्मेलन के लिए पुलिस मैदान की इजाजत ली जाएगी। अब वीरभद्र सिंह कहते हैं कि बिना इजाजत कोई भी सम्मेलन करना अनुशासनहीनता है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इससे लगता है कि आने वाले दिनों में वीरभद्र सिंह और जीएस बाली में तल्खी ज्यादा बढ़ेगी। वहीं, बेरोजगारी भत्ते को लेकर परिवहन मंत्री जीएस बाली की बात को काटते हुए सीएम वीरभद्र सिंह ने फिर दोहराया है कि प्रदेश की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि बेरोजगारों को वह बेरोजगारी भत्ता दे सके। इसलिए सरकार ने कौशल विकास की तरफ ध्यान दिया है। कौशल विकास से प्रदेश के युवा अपने पैरों पर खड़ें होंगे और वे स्वरोजगार की तरफ बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि देश का कोई भी राज्य ऐसा नहीं है, जहां पर बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा हो।

सीएम ने कहा कि प्रदेश की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि वह बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दे सके। उन्होंने कहा कि जिस वक्त प्रदेश कांग्रेस ने अपना चुनाव घोषणा पत्र बनाया था, उस वक्त प्रचार में व्यस्त थे। चुनाव घोषणा पत्र में उस वक्त कुछ ऐसी बातें लिखी गई, जिन्हें पूरा करना संभव नहीं है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि उन्होंने प्रचार के दौरान भी यह कहा था कि कांग्रेस सरकार कौशल विकास के जरिए युवाओं को रोजगार प्रदान करेगा और कौशल विकास से स्वरोजागर के लिए भी वे अपने पैरों पर खड़ें होंगे। उन्होंने कहा कि आज भी प्रदेश सरकार के पास इतने संसाधन नहीं है कि वह बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दे। वीरभद्र सिंह यही बातें पहले भी कह चुके हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है