Covid-19 Update

57,189
मामले (हिमाचल)
55,796
मरीज ठीक हुए
960
मौत
10,655,435
मामले (भारत)
99,333,754
मामले (दुनिया)

Parvati Valley में दो दर्जन से अधिक विदेशियों के साथ 60 सैलानी फंसे, होटलों-होम स्टे में Quarantine

Parvati Valley में दो दर्जन से अधिक विदेशियों के साथ 60 सैलानी फंसे, होटलों-होम स्टे में Quarantine

- Advertisement -

कुल्लू। विदेशी सैलानियों के लिए विख्यात कुल्लू जिला की पार्वती घाटी (Parvati Valley) में लॉक डाउन और कर्फ्यू के चलते सन्नाटा पसर गया है। घाटी के होटलों में ताले लगा दिए हैं। कसोल, मणिकर्ण, रसोल तथा खीरगंगा की वादियां पूरी तरह से सुनसान पड़ी हैं।

यह भी पढ़ें: Paonta से जंगल के रास्ते पैदल Nerwa पहुंचे 12 लोग, पुलिस ने दर्ज किया मामला

पार्वती घाटी में इस समय दो दर्जन से अधिक विदेशियों के साथ 60 सैलानी फंसे हुए हैं। बताया जा रहा है कि इनमें सबसे अधिक विदेशी सैलानी इजरायल के हैं। इसके अलावा इटली, रूस, जर्मनी, स्पेन तथा फ्रांस के सैलानी भी शामिल हैं। बताया जा रहा कि यह सभी पर्यटक देश में लगे लॉकडाउन से पहले आए थे जो अब मणिकर्ण घाटी में रुके हुए हैं। विभिन्न देशों के पर्यटक दो से तीन महीने पहले सैर-सपाटे के लिए भारत आए थे। अब यह सब घाटी के विभिन्न होटलों और होम स्टे में रुके हैं। जहां यह सब एक तरह से क्वारंटीन (Quarantine) कर रखे हैं।

होटल एसोसिएशन मणिकर्ण वैली ने इसकी पूरी रिपोर्ट प्रशासन को दे दी है। एसोसिएशन के प्रधान किशन ठाकुर ने कहा कि घाटी में देशी-विदेशी सैलानियों के साथ करीब 100 लोग यहां रुके हुए हैं। इनमें 15 कश्मीर के मजदूर भी है। फंसे सैलानियों को एहतियातन होम क्वारंटीन किया गया है। पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि घाटी में जो भी विदेशी है, उन पर पुलिस निगरानी रख रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है