Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

लोकसभा में गूंजा आईआईटी मंडी और पौंग विस्थापितों का मुद्दा

लोकसभा में गूंजा आईआईटी मंडी और पौंग विस्थापितों का मुद्दा

- Advertisement -

मंडी/ कांगड़ा। लोकसभा में पौंग बांध विस्थापितों और आईआईटी मंडी गोलमाल का मुद्दा उठा। हमीरपुर के सांसद अनुराग ठाकुर व मंडी के सांसद राम स्वरूप शर्मा ने यह मामला उठाया। आईआईटी मंडी में चल रहे गोलमाल की जांच अब केंद्रीय जांच कमेटी करेगी। इस बात की जानकारी शुक्रवार को सदन में मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी। बता दें कि शुक्रवार को सदन में मंडी के सांसद राम स्वरूप शर्मा ने आईआईटी मंडी में चल रहे गोलमाल के विषय को प्रमुखता से उठाया और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच केंद्रीय टीम से करवाने की बात कही।
सांसद रामस्वरुप शर्मा ने लोकसभा में बताया कि आईआईटी मंडी में वितिय अनियमितताओं व रोजगार आदि कार्यों में भाई-भतीजावाद सरेआम देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आईआईटी मंडी की स्थापना 2010 में हुई थी और यह संस्थान पिछले पांच वर्षों में पूरी तरह से तैयार होकर छात्रों को शिक्षा देने का कार्य कर रहा है। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग व निदेशक आईआईटी मंडी अपनी मनमर्जी के अनुसार ठेकेदारों का चयन कर रहे हैं और गुणवता पर कोई विशेष ध्यान नहीं दिया जा रहा है। वितिय नियमों का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है इन्हीं कारणों से दो वर्ष पूर्व आईआईटी मंडी में पांच लोगों की हत्या हुई थी। उन्होंने कहा कि आए दिन आईआईटी में स्थानीय लोग धरने-प्रदर्शन कर रहे हैं और समाचारों की सुर्खियां बने रहते हैं।
सांसद के इस सवाल के जवाब में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावेडकर ने तुरंत प्रभाव से केंद्रीय जांच टीम गठित कर आईआईटी कमांद भेजने का ऐलान किया है। वहीं, पांच दशक से विस्थापन का दंश झेल रहे पौंग बांध विस्थापितों को वीरवार को आशा की एक छोटी सी किरण नजर आई। जब सांसद अनुराग ठाकुर ने लोकसभा सत्र के दौरान पौंग बांध विस्थापितों की चिरलम्बित मांग राजस्थान में भूमि नहीं तो सरकार नर्मदा बांध की तर्ज पर विस्थापितों को मुआवजे का प्रावधान करवाए। प्रमुखता से उठाकर पौंग बांध विस्थापितों की डूबती नैय्या का खेबनहार बनकर उन्हें एक बहुत बड़ी सौगात देने की कोशिश की।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है