Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

दो टूकः सड़कों की गुणवत्ता पर उठे सवाल, सांसद Shanta Kumar तल्ख

दो टूकः सड़कों की गुणवत्ता पर उठे सवाल, सांसद Shanta Kumar तल्ख

- Advertisement -

डिस्ट्रिक्ट डिवेलपमेंट मॉनिटरिंग कमेटी की बैठक में पीडब्ल्यूडी अधिकारियों से मांगी रिपोर्ट

Shanta Kumar: धर्मशाला। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बन रही सड़कों की गुणवत्ता से सांसद शांता कुमार नाराज है। खंड विकास अधिकारी धर्मशाला कार्यालय के सभागार में चल रही डिस्ट्रिक्ट डिवेलपमेंट मॉनिटरिंग एंड कॉर्डिनेशन कमेटी की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए सांसद शांता कुमार ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से इस बारे में रिपोर्ट तलब की है। बैठक में जब प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का विषय चर्चा के लिए आया तो गैर सरकारी संस्था के सदस्य ने इस योजना के तहत निर्मित होने वाली सड़कों की खराब गुणवत्ता का मुद्दा उठाया। उनका कहना था कि योजना के तहत निर्मित 350 सड़कों में से 100 सड़कें गुणवत्ता के मापदंडों पर खरी नहीं उतरी हैं।

इस बाबत शांता कुमार ने बैठक में मौजूद लोक निर्माण विभाग के अधिकारी से जवाब मांगा तो वह अधिकारी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। हालांकि अधिकारी का कहना था कि गुणवत्ता में कमी के कई कारण हो सकते हैं। इसपर शांता तल्ख हो गए और उन्होंने कहा कि कारण कोई भी हो कमी तो कमी ही रहती है इसमें किसी तरह की बहानेबाजी जायज नहीं है। शांता कुमार ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से जब यह पूछा कि किस तरह के टेस्ट हुए और कितनी सड़कें इसमें फेल हुईं तो इसकी जानकारी अधिकारी नहीं दे सके।


एक हफ्ते में सौंपे रिपोर्ट

इस पर शांता कुमार ने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि वह एक हफ्ते में इस बारे में विस्तृत रिपोर्ट उन्हें सौंपे। इसमें पिछले 2 वर्ष में इस योजना के तहत निर्मित सड़कों की गुणवत्ता की जांच किन-किन एजेंसियों ने की। इस जांच की क्या रिपोर्ट रही और कितनी सड़कें इसमें फेल हुईं। जो सड़कें फेल हुई हैं उनके लिए निर्माण करने वाले ठेकेदार ओर इस कार्य में तैनात विभागीय अधिकारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई आदि जानकारी शामिल होनी चाहिए। सांसद ने लोक निर्माण विभाग को उन गांवों की सूची भी उपलब्ध करवाने को कहा जो कि जीप योग्य सड़क सुविधा से भी नहीं जुड़ पाए हैं। शांता कुमार ने विभाग को ऐसे गांवों को प्राथमिकता के आधार पर सड़क सुविधा से जोड़ने के निर्देश भी जारी किए।

यह भी पढ़ें…  लापरवाही! Digital Ration Card में BPL को APL तो APL को दर्शाया BPL

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है