- Advertisement -

मुलायम की अखिलेश को दो टूक – तुम्हारी हैसियत ही क्या….

0

- Advertisement -

लखनऊ। सपा में मचा संग्राम थमने का नाम नहीं ले रहा। मुलायम सिंह यादव ने महाबैठक बुलाई तो सपा कार्यालय के बाहर अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के समर्थकों के बीच जमकर नारेबाजी और हाथापाई हुई। समर्थकों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। महाबैठक में मुलायम सिंह ने अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला। मुलायम सिंह यादव ने इशारों ही इशारों में साफ कहा कि

  • पद मिलते ही दिमाग खराब हो गया
  • अगर आलोचना सही है, तो सुधरने की है जरूरत
  • कुछ नेता केवल चापलूस
  •  नारेबाजी करने वाले बाहर होंगे

मुलायम ने कहा, अमर सिंह मेरे भाई हैं। तुम्हारी हैसियत क्या है, जो उन्हें गाली देते हो। अमर सिंह ने हमें कई बार बचाया है। मैं शिवपाल और अमर सिंह खिलाफ नहीं सुन सकता। शिवपाल और अमर सिंह का साथ मैं कभी नहीं छोड़ूंगा। मुलायम ने महाबैठक में कहा कि शिवपाल यादव बड़े नेता हैं। मैं पार्टी में टकराव से दुखी हूं। लोहिया जी के दिखाए मार्ग पर आगे चलें। उन्होंने पार्टी नेताओं को हिदायत दी की ज्यादा बढ़-चढ़कर बातें नहीं करें। जो उछल रहे हैं, वे एक भी लाठी नहीं झेल सकते। हमें अपनी कमजोरियां दूर करनी चाहिए। हम कमजोरी दूर करने के बजाय लड़ने लगे।

  • हमने पार्टी बनाने के लिए बहुत संघर्ष किया
  • जरूरत पड़ी तो हम जेल जाने से भी पीछे नहीं हटे
  • हम जेल भी गए कोई नहीं जानता

मुलायम के कहने से अखिलेश और शिवपाल यादव गले मिले। हालांकि मुलायम के बोलने के दौरान दोनों के बीच बहस की भी खबर है।

नई पार्टी क्यों बनाऊंगा

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने भावुक होकर कहा कि मैं नई पार्टी क्यों बनाऊंगा? मैं भी किधर जाऊंगा, मैं बर्बाद हो जाऊंगा। नेताजी मेरे लिए गुरु हैं, वह चाहें तो मुझे पार्टी से बाहर निकाल सकते हैं। वह कहते तो मैं इस्तीफा दे देता। अखिलेश ने अमर सिंह पर निशाना साधा और कहा कि पार्टी के खिलाफ साजिश करने वालों के खिलाफ बोलूंगा। अखिलेश यादव ने इस पूरे मामले पर बयान दिया  मुलायम सिंह यादव मेरे पिता हैं

  • सारी जिंदगी उनकी सेवा करूंगा
  • मैं पिता के खिलाफ नहीं हूं
  • हम पार्टी तोड़ना नहीं चाहते हैं

5 तारीख को जो पार्टी का 25 साल का जश्न होने जा रहा है, उसमें जरूर शामिल होने जाऊंगा। उससे पहले 3 तारीख से रथ यात्रा भी शुरू करेंगे। अखिलेश का कहना है कि वह सिर्फ उनके खिलाफ हैं, जो अमर सिंह के साथ हैं और अमर सिंह की तरफदारी कर रहे हैं।

अखिलेश ने कही थी अलग पार्टी की बात

वहीं शिवपाल यादव ने समर्थकों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि अखिलेश ने अलग पार्टी बनाकर दूसरे दल के साथ चुनाव लड़ने की बात कही है। शिवपाल ने कहा, मैं कसम खाकर कहता हूं कि अखिलेश ने यह बात कही थी। क्या मैंने सीएम अखिलेश से कम काम किया है। मेरे विभाग छीने गए मेरा कसूर क्या था। मैंने सीएम और नेताजी के हर आदेश को माना। पार्टी में कुछ लोग सत्ता की मलाई चाट रहे हैं। हमने पार्टी बनाने के लिए संघर्ष किया। क्या सरकार में मेरा योगदान नहीं है। अब नेताजी नेतृत्व संभालें। गौरतलब है कि, अखिलेश और मुलायम के दो गुट बन चुके हैं और दोनों एक-दूसरे पर बीजेपी से साठगांठ का आरोप लगा रहे हैं। रामगोपाल ने शिवपाल को व्याभिचारी कहा और शिवपाल ने भी रामगोपाल को बीजेपी का एजेंट बताया।

मुलायम सिंह ने साफ कर दिया है कि वो अखिलेश मुख्‍यमंत्री तो रहेंगे लेकिन उन्‍हें अपने हिसाब से काम करने की छूट नहीं मिल पाएगी। उन्‍हें चाचा शिवपाल और अमर सिंह को लेकर चलना होगा। वहीं बैठक छोड़कर जाने से पहले अखिलेश यह कह गए कि चुनाव में टिकट मैं ही बांटूंगा।

- Advertisement -

Leave A Reply