Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

पंजाब : एक ही परिवार के पांच लोगों की गला रेत कर हत्या, नशे की हालत में मिला बेटा हिरासत में

पंजाब : एक ही परिवार के पांच लोगों की गला रेत कर हत्या, नशे की हालत में मिला बेटा हिरासत में

- Advertisement -

तरनतारन।  पंजाब के तरनतारन (Tarn Taran of Punjab) में एक ही परिवार के चार लोगों और एक नौकर की गला रेत कर हत्या (Murder) का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि ये परिवार नशा तस्करी (Drug smuggling) का काम करता था, परिवार के जो लोग मारे गए हैं उनमें एक 55 साल का शख्स उसके दो बेटे और दो बहुएं शामिल हैं जबकि, एक बेटा पूरी तरह से नशे की हालत में पाया गया है जिसे पुलिस ने हिरासत (Police Custody) में ले लिया है। उनका नौकर भी नशे का आदी था इसलिए वह भी इन्हीं लोगों के पास रहता है। बताया जा रहा है कि मारे गए दो बेटों के अलावा दो अन्य बेटे हैं जिनका नशा मुक्ति केंद्र (Drug de-addiction center) में ईलाज चल रहा है।

घर में मौजूद थे चार नन्हें बच्चे, सभी सुरक्षित
मामला तरनतारन के गांव कैरों का है। जहां बुधवार देर रात नशा तस्कर (Smuggler), उसके बेटे, दो बहू और एक नौकर की गला रेतकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने मौके से नशा तस्कर के छोटे बेटे को नशे की हालत में हिरासत में ले लिया है। घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी (DSP) कुलजिंदर सिंह, थाना प्रभारी अजय खुल्लर समेत अन्य अधिकारी पहुंचे और शवों को कब्जे में लिया। मृतकों में बृजलाल (55), उसके बेटे बंटी (25), बहू अमन पत्नी परमजीत पम्मा, जस्सी पत्नी बख्शीश सोना और नौकर गुरसाहिब सिंह (35) के तौर पर हुई है। वहीं, घर में चार छोटे बच्चे भी थे, जो सुरक्षित हैं, बच्चे अपने परिजनों की मौत के बाद भी उनके शवों के पास पड़े रहे।


परिवार पर नशा तस्करी के 12 केस हैं दर्ज
उधर, लोगों का भी कहना है कि पूरा परिवार नशे का कारोबार (Drug trade) करता था, इस परिवार पर नशा तस्करी के 12 से अधिक मामले दर्ज हैं, जबकि उसके चारों बेटे भी इसी कारोबार में जुड़े हैं। सभी के खिलाफ अलग-अलग थानों में केस दर्ज (Case Filed) हैं। बृजलाल की पत्नी रणजीत कौर नशा तस्करी में केस में दस साल की सजा काट चुकी है।

बच्ची ने पड़ोसियों से कहा- रात में झगड़ा हुआ, अब सभी सो रहे हैं
जानकारी के अनुसार, गांव कैरों निवासी बृजलाल के चार बेटे हैं। जिसमें से दो बेटों परमजीत पम्मा और बख्शीश सोना का इलाज नशा छुड़ाओ केंद्र (Drug Addiction Center) में चल रहा है। वहीं, मारा गया छोटा बेटा बंटी और हिरासत में लिया गया गुरजंट सिंह की अभी शादी नहीं हुई है। पड़ोसियों को घर की बच्ची परी ने बताया कि उनके घर में रात को बहुत झगड़ा हुआ था जिसके बाद अभी तक सारे सो रहे हैं। जब लोगों ने घर आकर देखा तो सभी के शव खून से सने हुए पड़े हुए थे। बताया जा रहा है कि घर पर सारा सामान भी बिखरा हुआ था ऐसे में पुलिस इस मामले की लूट के लिहाज से भी जांच कर रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है