Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,557,583
मामले (भारत)
230,543,349
मामले (दुनिया)

बुजुर्ग महिला की मौत बनी पहेली, पुलिस कार्यप्रणाली पर भी उठे सवाल-परिजन परेशान

बुजुर्ग महिला की मौत बनी पहेली, पुलिस कार्यप्रणाली पर भी उठे सवाल-परिजन परेशान

- Advertisement -

शिमला। जिला शिमला के ट्रहाई गांव में हुई 90 वर्षीय बुजुर्ग मेहंदी देवी की मौत के रहस्यों से अढ़ाई माह बाद भी पर्दा नहीं उठ पाया है, जिसको लेकर क्षेत्र के लोगों में खासा रोष है। मामले को लेकर लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल 6 जनवरी को सीएम जयराम और पुलिस महानिदेशक एसआर मरड़ी से भी मिला था और वृद्ध महिला की रहस्यमयी मौत की जांच की मांग उठाई थी। हालांकि एसआर मरड़ी ने शिमला पुलिस को शीघ्र जांच के आदेश दिए थे, लेकिन इसके बाद भी पुलिस के हाथ इस मामले को लेकर अभी तक खाली हैं। बता दें कि ट्रहाई गांव की 90 वर्षीय बुजुर्ग मेंहदी देवी एससी से संबध रखती थीं।

यह भी पढ़ें: Kullu Police ने वाशिंग में 59 किलो 587 ग्राम Charas की आग के हवाले

ट्रहाई गांव के बीजेपी बूथ अध्यक्ष प्रीतम ठाकुर, भगत चंद आन्नद, मनोहर सिंह जेलदार, पूर्व प्रधान बालक राम निर्मोही, रामसरन, बाला राम, वीरेंद्र कुमार, महिला मंडल प्रधान शशिकांता शर्मा सहित अनेक गांववासियों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर हैरानी प्रकट की है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने आज तक शक के आधार पर भी किसी व्यक्ति से पूछताछ नहीं की है। ढली पुलिस पोस्टमार्टम की रिपोर्ट न मिलने का राग अलाप रही है और अपने वरिष्ठ अधिकारियों को गलत सूचना देकर गुमराह किया जा रहा है।

 

जिस खेत की एक दिन पहले की थी सिंचाई वहीं मिला शव

लोगों का कहना है कि जो बुजुर्ग महिला दिन में भी बिना ऐनक के अंदर बाहर नहीं चल सकती थी। तो वह सर्दी के मौसम में छह दिनों तक बाहर कहां रही और सातवें दिन घर के समीप खेत में कैसे पहुंच गई। जबकि बुढ़िया की ऐनक और लाठी 15 नवंबर को बिस्तर पर पाई गई थी, जिससे साफ जाहिर है कि बुजुर्ग महिला की किसी ने हत्या की है। वहीं, बुजुर्ग महिला के दतक पुत्र नरायण सिंह का कहना है कि जिस खेत में बुढ़िया का शव मिला था उस खेत की उन्होंने एक दिन पहले ही सिंचाई की थी, लेकिन तब वहां पर बुढ़िया का शव नहीं था और अगले दिन सुबह वहीं पर बुढ़िया की लाश मिली। ट्रहाई गांव के लोगों का कहना है कि ऐसा प्रतीत होता है कि अपराधियों द्वारा पुलिस पर राजनीतिक दबाव डाला जा रहा है, जिस कारण पुलिस अपराधियों को पकड़ने में नाकाम साबित हो रही है। वहीं, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिमला परबीर ठाकुर से जब फोन पर इस बारे बात की गई तो उन्होंने बताया कि मेहंदी की मौत की जांच चल रही है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है