Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

नड्डा @ AIIMS के लिए कुछ और जमीन की जरूरत, प्रदेश सरकार से चल रही बातचीत

नड्डा @ AIIMS के लिए कुछ और जमीन की जरूरत, प्रदेश सरकार से चल रही बातचीत

- Advertisement -

बोले, एम्स बनने में लगेगा करीब 48 माह का वक्त

बिलासपुर। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने आज बिलासपुर के कोठीपुरा स्थित इस दौरान उन्होंने कहा कि यह एम्स जैसे संस्थान के लिए बहुत माकूल जगह है। नड्डा ने कहा कि अभी तक उन्होंने जमीन देखी नहीं थी इसलिए वो इस जगह को समझ लेना चाहते हैं और उसी के अनुसार उसकी डिजाइनिंग तैयार होगी।
  • नड्डा ने एम्स के लिए चयनित जगह का किया दौरा
  • प्लानिंग और बिडिंग में लगेगा एक साल का वक्त
  • इसके बाद धरातल पर शुरू होगा एम्स का काम
नड्डा ने कहा कि एम्स के लिए कुछ और जगह भी चाहिए उसका भी मुआयना करना था। उन्होंने कहा कि हमने इसको लेकर प्रोसेस शुरू कर दिया है और अगर प्रदेश सरकार की ओर से पॉजिटिव रिस्पांस रहा तो यह प्रोसेस एक माह में पूरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि इसको लेकर मैं खुद प्रदेश सरकार से बातचीत भी करूंगा। इसके लिए करीब 48 माह का वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि वो इस संबंध में दिल्ली भी बैठक लेने जा रहे हैं। नड्डा विस्तार से समझाया कि जो मॉडल एम्स का बनाया गया है वह बाहरी है। इसके लिए अंदर की डिजाइनिंग करनी पड़ती है। कहां ढलान है और कहां समतल जगह है यह सब चीजे देखनी होती है।

मोस्ट मॉडर्न फेसिलिटी से जोड़ा जा रहा एम्स

नड्डा ने कहा कि इस संस्थान में हम मोस्ट मॉडर्न फेसिलिटी को जोड़ रहे हैं। एम्स ऐसा होगा कि जहां से पेशेंट अंदर आएगा वहां से अटेंडेंट नहीं आएगा। जहां से अटेंडेंट आएगा वहां से डॉक्टर नहीं आएगा। जिस मरीज ने ओपीडी में दिखाना है वो आईपीडी या किसी अन्य जगह नहीं पहुंचेंगे। आज के दौर में आधुनिक सुविधाओं से लैस संसथान बन रहे हैं। इन्हीं में से एम्स भी एक होगा। इस प्लानिंग की अभी डिजाइनिंग होनी है, जिसमें थोड़ा वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि यह सालभर का प्रोसेस रहेगा। इस दौरान सबसे पहले इंटनेशनल बिडिंग होगी। इसके लिए वो ही योग्य होगा जिसने पहले 5 हजार करोड़ से ज्यादा का काम किया हो। इसके बाद कंपिटेंसी और फाइनेंशियल बिडिंग होगी। इसके अंत में टेक्नीकल बिडिंग होगी।
उन्होंने कहा कि कोठी पुरा में  एम्स के विस्तार की भी काफी संभावनाएं हैं, जिसका लाभ ही मिलेगा, साथ ही नड्डा ने पीएम मोदी की बिलासपुर रैली को सफल बनाने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि यह अभूतपूर्व रैली थी और यह सफलता एक व्यक्ति की नहीं बल्कि सभी ने इसके लिए दिन-रात मेहनत की। उन्होंने कहा कि शायद हिमाचल की सबसे बड़ी रैली लूहणु मैदान में हुई है, साथ ही उन्होंने छोटी जनसंख्या पर इतनी बड़ी सौगात देने के लिए पीएम मोदी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि आपसे निवेदन किया था कि रैली में भारी संख्या में आओ, वो इसलिए की जब मिट्टी अपना हक अदा करती है तभी पौधा या पेड़ बनता है। उन्होंने कहा कि मिट्टी ने अपना हक अदा किया है। अब एम्स जल्द बनकर तैयार होगा।  

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है