नाग पंचमी पर भूलकर भी न करें ये काम

इस दिन पूजा करने का सही तरीका

नाग पंचमी पर भूलकर भी न करें ये  काम

- Advertisement -

नाग पंचमी का त्‍योहार सावन (श्रावण) के महीने में आता है । प्रचलित हिंदू मान्‍यता के अनुसार पृथ्वी शेषनाग के फन पर टिकी है और भगवान शिव जी भी सांपों की माला को पहने रहते हैं इसलिये सर्प को देवता के रूप में पूजा जाता है। नाग पंचमी पर सांपों की पूजा तो की जाती है। इसके साथ ही कुछ एसी चीजें हैं जो हमें इस दिन नहीं करनी चाहिए । आइए जानते हैं उन चीजों के बारे में जो हमें इस दिन नहीं करनी चाहिए


  • वैसे तो इस दिन भूमि आदि नहीं खोदनी चाहिए परंतु उपवास करने वाला मनुष्य सांयकाल को भूमि की खुदाई कभी न करे। नागपंचमी के दिन धरती पर हल न चलाएं।
  • देश के कई भागों में तो इस दिन सुई धागे से किसी तरह की सिलाई आदि भी नहीं की जाती तथा न ही आग पर तवा और लोहे की कड़ाही आदि में भोजन पकाया जाता है।
  • किसान लोग अपनी नई फसल का तब तक प्रयोग नहीं करते जब तक वह नए अनाज से बाबे या कुलदेवता को रोट न चढ़ाएं।

यह भी पढ़ें :नाग पंचमी और सोमवार : 125 साल आ रहा ये शुभ योग, कई गुना बढ़ जाएगा पूजा का फल

जानिए नाग पंचमी पर पूजा का सही तरीकाः नागपंचमी की पूजा करने से पहले यह जान लें कि नाग पंचमी पर सामान्य तरीके से पूजा उपासना कैसे की जाएगी। सुबह-सुबह स्नान करके भगवान शंकर का स्मरण करें। नागों की पूजा शिव के अंश के रूप में और शिव के आभूषण के रूप में ही की जाती है क्योंकि नागों का कोई अपना अस्तित्व नहीं है। अगर वो शिव के गले में नहीं होते तो उनका क्या होता। इसलिए पहले भगवान शिव का स्मरण करेंगे। शिव का अभिषेक करें, उन्हें बेहपत्र और जल चढ़ाएं।

यदि आप राहु-केतु से परेशान है तो एक बड़ी सी रस्सी में सात गांठें लगाकर प्रतिकात्मक रूप से उसे सर्प बना लें। इसे एक आसन पर स्थापित करें। अब इस पर कच्चा दूध, बताशा और फूल अर्पित करें। साथ ही गुग्गल की धूप भी जलाएं।इसके पहले राहु के मन्त्र-‘ऊं रां राहवे नम:’का जाप करना है और फिर केतु के मंत्र -ऊं कें केतवे नम:’दोनों का 1008 बार जाप करें।जितनी बार राहु का मंत्र जपेंगे उतनी ही बार केतु का मंत्र भी जपना है।जितना ज्यादा जप करेंगे उतना ही फायदा होगा।मंत्र का जाप करने के बाद भगवान शिव का स्मरण करते हुए-ओम नम: शिवायबोलते हुए एक-एक करके रस्सी की गांठ खोलते जाएं। फिर रस्सी को बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। राहु और केतु से संबंधित जीवन में कोई समस्या है तो वह समस्या दूर हो जाएगी।

अगर आपको सर्प से डर लगता है या सांप के सपने आते हैं तो चांदी के दो सर्प बनवाएं। साथ में एक स्वास्तिक भी बनवाएं। जो लोग चांदी का नहीं बनवा सकते तो जस्ते का बनवा लीजिए। अब थाल में रखकर इन दोनों सांपों की पूजा कीजिए और एक दूसरे थाल में स्वास्तिक को रखकर उसकी अलग पूजा कीजिए।नागों को कच्चा दूध जरा-जरा सा दीजिए और स्वास्तिक पर एक बेलपत्र अर्पित करें। फिर दोनों थाल को सामने रखकर ‘ऊं नागेंद्रहाराय नम:’ का जाप करें।इसके बाद नागों को ले जाकर शिवलिंग पर अर्पित करेंगे और स्वास्तिक को गले में धारण करेंगे।
ऐसा करने के बाद आपके सांपों का डर दूर हो जाएगा और सपने में सांप आना बंद हो जाएंगें।

पंडित दयानंद शास्त्री, उज्जैन (म.प्र.) (ज्योतिष-वास्तु सलाहगाड़ी) 09669290067, 09039390067

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

सीएम को बुद्धिज्म कल्चरल स्टडी विवि का शिलान्यास करने के लिए किया आमंत्रित

हिमाचल उपचुनावः धर्मशाला व पच्छाद सीटों पर इस दिन डाले जाएंगे वोट

विधानसभा चुनाव : महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 को वोटिंग, 24 को आएंगे नतीजे

सत्ती बोले, पौंग बांध विस्थापितों के पुनर्वास को अधिकारियों की समन्वय समिति गठित हो

ऊना पुलिस ने आधी रात को दी ढाबों व अहातों में दबिश

सुप्रिया श्रीनेत को कांग्रेस ने नियुक्त किया राष्ट्रीय प्रवक्ता

दिल्ली किसान घाट पर प्रदर्शन करने पहुंचें उत्तर प्रदेश के किसान, ये हैं मांगे

सऊदी अरब में हमले के बाद अमेरिका ने लगाया ईरान पर बैन, सेना तैनात

दर्दनाक हादसाः लुढ़कते ही लगी गाड़ी में आग, घायल चालक ने कूदकर बचाई जान

महाराष्ट्र और हरियाणा में चुनाव तारीखों का आज हो सकता है ऐलान

हिमाचल पर्यटन नीति-2019 अधिसूचित, वेब पोर्टल पर लें जानकारी

एनसीसी समूह की साइकिल रैली रवाना, राज्यपाल ने हरी झंडी दिखाई

होटलों की जीएसटी दरों के युक्तिकरण का हिमाचल को होगा फायदा

गोवा में हुई जीएसटी परिषद की बैठक में बिक्रम ठाकुर ने रखी यह बात

गुरकीरत सिंह बोले-वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ बयानबाजी अनुशासनहीनता

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है