Covid-19 Update

58,543
मामले (हिमाचल)
57,287
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,077,957
मामले (भारत)
113,760,666
मामले (दुनिया)

नसीरुद्दीन ने कहा,” मेरा दर्द भारतीय का, मुस्लिम का नहीं

नसीरुद्दीन ने कहा,” मेरा दर्द भारतीय का, मुस्लिम का नहीं

- Advertisement -

नई दिल्ली। विराट कोहली पर बयान देने के बाद ट्रोल्स के निशाने पर नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि नसीरुद्दीन ने कहा मेरा दर्द भारतीय का, मुस्लिम का नहीं। मैं अपने बच्चों के लिए परेशान हूं। एक टीवी चैनल से हुई बातचीत के दौरान नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि जिस तरह से उनके बयान के बाद से सोशल मीडिया पर वे ट्रोल्स के निशाने पर आए हैं, इससे उन्हें रोका नहीं जा सकता। उन्होंने यह भी साफ़ किया कि वे डरे नहीं हैं, लेकिन उन्हें गुस्सा जरूर है। एक्टर ने कहा, “मुझे अपने बयान पर खेद नहीं है। मैं ये भी नहीं कहता कि मुझे मिस कोट किया गया। मैं डरा नहीं हूं, लेकिन गुस्से में हूं। पहले मॉब लिंचिंग नहीं होती थी। आजकल ये चीजें हो रही हैं। मैं अपनी चिंता व्यक्त कर रहा हूं।

बुलंदशहर हिंसा पर नसीरुद्दीन शाह ने उठाया था सवाल

एक्टर ने देश में धर्म और जाति के नाम पर बुलंदशहर का जिक्र करते हुए भीड़ की हिंसा पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि एक गाय की जान पुलिस अफसर से ज्यादा कीमती हो गई है। हमने (पत्नी रत्ना पाठक शाह) अपने बच्चों को धार्मिक तालीम नहीं दी है। मुझे डर लगता है कि अगर उनसे उनका धर्म पूछा गया तो वे क्या जवाब देंगे? समाज में बढ़ रही साम्प्रदायिकता पर अपनी बात के क्रम में ही उन्होंने ये भी कहा, समाज में इस तरह का जहर फ़ैल चुका है। मुझे मेरे बच्चों को लेकर चिंता होती है।

मैं कांग्रेस की कठपुतली नहीं हूं

आप किसी चीज के बारे में तभी बोलते हैं जब आपको उसकी चिंता होती है। समाज में नफरत और सांप्रदायिकता फैलाई जा रही है। मैं ये बातें एक मुस्लिमम शख्स के रुप में नहीं बोल रहा हूं। मैं अपनी मुस्लिमम पहचान का फायदा नहीं उठाता। सभी धर्मां का मैं सम्मान करता हूं। एक भारतीय होने के नाते मैंने अपना दर्द बयान किया था मुस्लिमम होने के नाते नहीं। ट्रोलर्स के पास कोई काम नहीं है। वे मुझे रोक नहीं सकते। किसी राजनीतिक दल की पक्षधरता को लेकर नसीरुद्दीन ने साफ़ किया, “मुझे कांग्रेस का प्रवक्ता कहा जाता है। मैं कांग्रेस की कठपुतली नहीं हूं। लोग मेरे बयान को राजनीति से जोड़ रहे हैं। मैं किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़ा हुआ नहीं हूं। मैं किसी पार्टी के सपोर्ट में नहीं हूं।”

अनुपम खेर के बयान को बताया समझ से परे

सच हमेशा रिलेटिव होता है। मुझे नहीं पता अनुपम के बयान का क्या मतलब था। मेरे घर के कई लोग इंडियन आर्मी में हैं। मैं आर्मी का सलाम करता हूं। मेरे भाई और पापा ने इस देश के लिए काम किया है। मेरे परिवार में से किसी के साथ कभी भेदभाव नहीं हुआ है। नसीरुद्दीन शाह ने ट्रिपल तलाक कानून को खत्म किए जाने की तारीफ की। उन्होंने कहा, “मैं इस पर अपना बयान दे चुका है, ये प्रथा खत्म करना अच्छा था। मैं इस फैसले की तारीफ करता हूं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है