Covid-19 Update

44,405
मामले (हिमाचल)
35,403
मरीज ठीक हुए
711
मौत
9,608,418
मामले (भारत)
66,501,425
मामले (दुनिया)

पहली बार Plane में बैठकर घर पहुंचे 177 प्रवासी मजदूर, Mumbai से Ranchi उतरी फ्लाइट

पहली बार Plane में बैठकर घर पहुंचे 177 प्रवासी मजदूर, Mumbai से Ranchi उतरी फ्लाइट

- Advertisement -

मुंबई। कोरोना संकट में मजदूरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुछ घर जाने को तरस रहे हैं तो कुछ पैदल निकल पड़े हैं। ऐसे में मजदूरों का विमान से सफर करना उनके लिए किसी सपने से कम नहीं है। कोरोना संकट के दौर में पहली बार मजदूरों की घर वापसी फ्लाइट (Flight) से हुई है। मुंबई से मजदूरों को लेकर एक फ्लाइट रांची (Ranchi) पहुंची। एनजीओ की मदद से मुंबई में 177 मजदूरों को एयरपोर्ट तक पहुंचाया गया था। मजदूरों ने 6 बजे उड़ान भरी थी।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में बड़ा Terrorist Attack टला, सुरक्षाबलों ने डिफ्यूज किया IED

 

बेंगलूरु लॉ स्कूल एलुमनाई एसोसिएशन ने किया फंडिंग का आयोजन

बेंगलूरु लॉ स्कूल एलुमनाई एसोसिएशन की प्रियंका रमन ने बताया कि पूर्व छात्रों के संघ ने कुछ एनजीओ (NGO) के साथ मिलकर न केवल मुंबई के विभिन्न हिस्सों से प्रवासियों को इकट्ठा किया बल्कि उनके हवाई टिकट की भी व्यवस्था की। प्रियंका रमन का कहना है कि हम जानते थे कि रांची के कई प्रवासी हैं, जो वापस जाना चाहते थे, इसलिए हमने कोशिश की और वापस भेजने का फैसला किया। हमने ऐसे प्रदेश के मजदूरों को वापस भेजने का फैसला किया था, जहां परिवहन संपर्क खराब हो। अंत में हमने फैसला किया कि हम झारखंड के लोगों को वापस भेजेंगे। इसके लिए एलुमनाई के पूर्व छात्रों ने फंडिंग का आयोजन किया, जिसमें सभी प्रवासियों के लिए टिकट, हवाई अड्डा शुल्क और परिवहन शुल्क शामिल थे। बड़ी संख्या में मजदूर आज हवाई जहाज से झारखंड लौटे। इन मजदूरों की खुशी साफ दिखाई दी।

 

राज्य सरकारों से समर्थन मिले तो दूसरे प्रवासियों को भी भेजेंगे घर

प्रवासियों को घर भेजने की मुहिम का हिस्सा प्रिया शर्मा का कहना है कि हम जानते हैं कि रांची के लिए कई ट्रेनें नहीं थीं, इसलिए हम मुंबई और पुणे में फंसे प्रवासियों की तलाश कर रहे थे। फ्लाइट के लिए प्रवासियों को राजी करना आसान नहीं था, क्योंकि हाल के दिनों में कई लोगों को कंफ्यूज किया गया था। एक्टिविस्ट और पूर्व छात्रों के समूह का कहना है कि अगर उन्हें अन्य राज्य सरकारों से समर्थन मिलता है तो वे राज्यों में अधिक प्रवासी श्रमिकों को भेजने के लिए तैयार होंगे। वहीं, झारखंड सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि यह खुशी की बात है कि प्लेन से झारखंड के मजदूर अपने राज्य लौट रहे हैं। अंडमान में फंसे लोगों को लाने के लिए दो और फ्लाइट जल्द ही रांची में लैंड करेगी। उनका कहना है कि फ्लाइट का किराया राज्य सरकार ही वहन कर रही है।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है