अब आएगी आतंकियों की शामत, सेना को मिलेगी अपडेटेड एके-203 एसाल्‍ट रायफलें

कपड़े में आसानी से छिपाकर आतंकियों से करीबी मुठभेड़ों में होंगी इस्‍तेमाल

अब आएगी आतंकियों की शामत, सेना को मिलेगी अपडेटेड एके-203 एसाल्‍ट रायफलें

- Advertisement -

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में जुटे सेना के जवानों को अब एके-203 राइफल (AK-203 rifle) के मॉर्डन वर्जन से लैस किया जाएगा। एके-203 राइफल का निर्माण उत्तर प्रदेश के अमेठी की फैक्टरी में किया जाएगा। यह ऑर्डिनेंस फैक्टरी (Ordinance Factory) बोर्ड और रूस का संयुक्त उपक्रम है। इसके लिए फास्ट ट्रैक प्रक्रिया के तहत 93,000 कार्बाइनें खरीदने के लिए अलग निविदा जारी की जा रही है। रायफल के आकार को कम करने के लिए इसका बट पूरी तरह हटा सकते हैं। तब इसे कपड़े में आसानी से छिपाकर आतंकियों से करीबी मुठभेड़ों में इस्‍तेमाल किया जा सकेगा।


यह भी पढ़ें: बीजेपी के संकल्प पत्र में अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने का वादा, किसानों को पेंशन

सूत्रों के हवाले से बताया कि इसके लिए रफ्तार के साथ काम किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है- हम आतंकवाद विरोधी अभियानों में इस राइफल को परखना चाहते हैं। सेना और सुरक्षाबलों के आधिकारिक सूत्रों ने बताया था कि ‘एके-203 राइफल’ उस इंसास राइफल की जगह लेगी, जिसका इस्तेमाल थल सेना और अन्य बल कर रहे हैं। इस इकाई में 7,00,000 एके-203 राइफलें तैयार करने का शुरुआती लक्ष्य है। एके-203 राइफल एके-47 राइफलों का सबसे मॉडर्न वर्जन है। कार्बाइन रोल की जरूरत के अनुसार एके-203 में और बदलाव किए जा सकते हैं। करीबी लड़ाई में कार्बाइन काफी मददगार होती है और कमरे में घुसने जैसे अभियानों के दौरान काफी प्रभावशाली हो सकती है। बता दें कि केंद्र सरकार पहले ही दो तरह की आधुनिक असॉल्ट राइफल की खरीद को अंतिम रूप दे चुकी है।


हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है