Covid-19 Update

41,229
मामले (हिमाचल)
32,309
मरीज ठीक हुए
656
मौत
9,484,506
मामले (भारत)
63,870,336
मामले (दुनिया)

Karachi Terror Attack: जानें क्या है बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी, जिसने ली है हमले की ज़िम्मेदारी

Karachi Terror Attack: जानें क्या है बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी, जिसने ली है हमले की ज़िम्मेदारी

- Advertisement -

कराची। कराची स्थित पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज (Pakistan Stock Exchange) की बिल्डिंग पर सोमवार को 4 आतंकवादियों ने ग्रेनेड फेंके और ताबड़तोड़ फायरिंग की। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इसमें चारों आतंकी समेत कुल 10 लोगों की मौत हो गई और 3 लोग घायल हैं। मरने वालों में तीन पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। कराची पुलिस के प्रमुख गुलाम नबी मेमन ने बताया कि चारों आतंकवादी एक कार में आए थे और चारों को मार दिया गया है। इस हमले (Terror Attack) की जिम्मेदारी बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (Balochistan Liberation Army) ने ली है। बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (बीएलए) के माजिद बिग्रेड ने आतंकी हमले को अंजाम दिया। उसका कहना है कि सभी आतंकी सुसाइड बॉम्बर थे। हाल के दिनों में बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी ने पाकिस्तान में कई आतंकी हमलों को अंजाम दिया है।

यह भी पढ़ें: Pakistan Stock Exchange पर हमला : चारों आतंकी मारे, फायरिंग में 6 नागरिकों की भी गई जान

जानें क्या है बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी

यह आतंकी संगठन बलूचिस्तान की पाकिस्तानी से आजादी के लिए लड़ाई लड़ रहा है। यह आतंकी संगठन 2000 में उस वक्त सुर्खियों में आया था, जब इसने पाकिस्तान में सिलसिलेवार धमाके किए थे। बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी की शुरुआत 1970 के दशक में ज़ुल्फ़िक़ार अली भुट्टो के शासनकाल में हुई थी। इसके बाद जब पाकिस्तान में सैन्य तानाशाह जियाउल हक सत्ता में आए तो उन्होंने बलूच नेताओं से बातचीत कर इस संगठन के साथ अघोषित संघर्ष विराम कर लिया। इसके बाद बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी काफी समय तक किसी बड़ी घटना को अंजाम नहीं दिया। लेकिन, जब परवेज मुशर्रफ ने पाकिस्तान में सत्ता संभाली तब बलूच लिबरेशन आर्मी ने अपने ऑपरेशन को फिर से शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें: J&K: सैयद अली शाह गिलानी ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस से दिया इस्तीफा; इस अलगाववादी गुट के थे आजीवन अध्यक्ष

चीन का धुर विरोधी का यह संगठन

इसके बाद हिंसा से तंग आकर पाकिस्तान सरकार ने 2006 में बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी को आतंकी संगठन घोषित कर दिया। इसके बाद से यह संगठन पाकिस्तान में लगातार आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता आया है। 2018 में इस संगठन पर कराची में चीन के वाणिज्यिक दूतावास पर हमले के आरोप भी लगे थे। बता दें कि बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी ने हमेशा से चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर का विरोध किया है। कई बार इस संगठन के ऊपर पाकिस्तान में काम कर रहे चीनी नागरिकों को निशाना बनाए जाने का आरोप भी लगे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है