Covid-19 Update

1341
मामले (हिमाचल)
970
मरीज ठीक हुए
09
मौत
9,70,596
मामले (भारत)
13,697,662
मामले (दुनिया)

Dalai Lama की उपस्थिति में उनके निवास स्थान में Buddha Purnima पर बोधिचित्त समारोह आयोजित

बोधिसत्व प्राप्ति के सात अभ्यास के बारे में विस्तारपूर्वक अनुयायियों को दी जानकारी

Dalai Lama की उपस्थिति में उनके निवास स्थान में Buddha Purnima पर बोधिचित्त समारोह आयोजित

- Advertisement -

मैक्लोडगंज। तिब्बतियों के धार्मिक गुरु दलाई लामा (Dalai Lama) की उपस्थिति में मैक्लोडगंज स्थित उनके अस्थायी निवास स्थान में बुद्ध पूर्णिमा पर बोधिचित्त समारोह (Bodhichitta ceremony) आयोजित किया गया। कोरोना वायरस की फैली महामारी के चलते दलाई लामा ने अपने निवास से पूर्णिमा के दिन बोधिचित्त समारोह के अवसर पर गौतम बुद्ध की शिक्षाएं दीं। उन्होंने बोधिसत्व प्राप्ति के 7 अभ्यास के बारे में विस्तारपूर्वक अनुयायियों को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि धार्मिक बनने के लिए मन को शुद्ध करने की आवश्यकता है। मन तभी शुद्ध होगा, जब हम अपने अंदर के गलत विचारों को नष्ट कर बोधित्व को प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि भौतिक विकास से शारीरक सुख मिलता है। लेकिन मानसिक सुख करुणा, प्रेम और मैत्री से प्राप्त होता है। दलाई लामा ने कहा कि मनुष्य को दुखी बनाने का मूल कारक अविद्या है। शून्यता का ज्ञान होने से अविद्या का क्षय होता है।


बोधिचित्त की विस्तार से व्याख्या की

दलाई लामा ने प्रवचन (Preaching) में शून्यता का सिद्धांत, परहित, क्लेश, बोधिचित्त की विस्तार से व्याख्या की। सिर्फ शांति (Peace) की स्थापना और बोधिचित्त की प्राप्ति के लिए शून्यता का सिद्धांत जरूरी है। स्वयं ही बोधिचित्त का उत्पादन करें। अपने पराए सभी के हितों के लिए बुद्धत्व प्राप्त करना चाहिए। शून्यता के दर्शन से बुद्धत्व की प्राप्ति हो सकती है। परहित के लिए दयाए करुणा ज़रूरी है। यह बुद्धत्व से प्राप्त होता है। भगवान बुद्ध (Lord Buddha) ने कहा है कि धन से नहीं, बोधिचित्त का पाठ करने से लाभ मिलता है। धर्म का अभ्यास जरूरी है। जो लोग दुखी हैं, उनका दुख हाथों से नहीं हटाया जा सकता। इसलिए बुद्ध ने बोधि ज्ञान को समझा। आप खुद उनके मार्ग पर चलकर दुखों को दूर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: बुद्धं शरणं गच्छामि…धम्मं शरणं गच्छामि…

स्वार्थी चित्त एक तरह की बुराई

दलाई लामा ने कहा चित्त में उत्साह रहने पर ही बोधिचित्त को प्राप्त कर सकते हैं। यह परहित से ही संभव है। क्लेश और अज्ञानता के कारण हम बुराइयों को जान नहीं पाते। स्वार्थी चित्त एक तरह की बुराई है। इससे क्लेश पैदा होती है। हमारे अंदर की बुराइयों को दूर करने के लिए चित्त में परिवर्तन लाना होगा। स्वार्थ की भावना का त्याग किए बिना सुख नहीं मिल सकता। द्वेष से बढ़कर कोई पाप नहीं है। क्रोध करने वाला सुखी नहीं रहता है। दुनिया में ज्यादा समस्याएं ईर्ष्या व बैर की वजह से हैं। इन्हें शून्यता के सिद्धांत से नष्ट किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि क्षमा से बढ़कर कोई पुण्य नहीं। हृदय में क्षमा का गुण होना चाहिए। धैर्य के अभ्यास का अवसर दुश्मन से ही मिलता है।

https://www.youtube.com/watch?v=PWAYVLq2hn4&t=284s

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Breaking: शिक्षा बोर्ड ने टैट की आवेदन तिथि बढ़ाई, अब क्या होगी- जानिए

कोरोना अपडेटः तीन Paramilitary और एक आर्मी जवान सहित हिमाचल में 8 पॉजिटिव

Solan: छात्रों की ऑनलाइन पढ़ाई को बनाए ग्रुप में चल पड़ी अश्लील वीडियो

Himachal में बड़ा हादसा: पांच की गई जान, तीन घायल- पढ़ें पूरी खबर

कोरोना ब्रेकिंगः Delhi से Shimla पहुंचा टैक्सी चालक निकला पॉजिटिव

बड़ी खबरः Shimla में धंसा रेन शेल्टर, एक की गई जान- एक घायल, एक समय रहते भागा

Corona को भगाने के लिए शिमला में 55 लाख गायत्री मंत्र का जाप, CM Jai Ram भी पहुंचे

HPBOSE ने जारी की D.El.Ed. Part-I and Part-II की अनुपूरक परीक्षा की डेटशीट, यहां देखें

तीन माह बाद दिल्ली से उड़ान भरकर पहुंचे Kullu, आते ही हो गए Institutional Quarantine

हिमाचल को Kiratpur-Ner Chowk Four Lane निर्माण तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश

Corona की दर्दनाक तस्वीर, चौखट पर मर गया दवा लेने आया Positive युवक !

MP किसान दंपति मारपीट मामला : गुना के Collector और SP हटाए, कमलनाथ ने सरकार को घेरा

देश के तीन राज्यों में हिली धरती : Himachal-Gujarat और Assam में भूकंप के झटके

Twitter पर Hacking Attack : हाइप्रोफाइल लोगों के Account Hack, हिमाचल ने जारी की एडवाइजरी

IIT Delhi ने बनाई कोरोना टेस्टिंग किट, सिर्फ तीन घंटे में निकालेगी Result

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

HPBOSE ने जारी की D.El.Ed. Part-I and Part-II की अनुपूरक परीक्षा की डेटशीट, यहां देखें

SOS की मिडल, मैट्रिक तथा जमा दो की परीक्षाओं के लिए करें Online पंजीकऱण

CBSE : दसवीं कक्षा का Result घोषित, 91.46 फीसदी रहा Result

D.El.Ed CET प्रवेश परीक्षा के लिए इस तरह प्राप्त करें अपना Admit Card

CBSE : सस्पेंस खत्म कुछ देर बाद जारी होगा दसवीं का Result से, ऐसे करें चैक

CBSE : 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित, 88.7 फीसदी रहा Result

Himachal में अब मंत्री-विधायक नहीं कर पाएंगे शिक्षकों की Transfer, जानिए क्या होगी नई प्रक्रिया

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट हुआ आउट: यहां चेक करें

कल दोपहर 3 बजे घोषित होगा ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट

बड़ी खबरः अब 12 को नहीं होगी D.El.Ed CET प्रवेश परीक्षा, कब होगी-जानिए

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने TET के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई, कल तक कर सकते हैं आवेदन

CBSE ने सिलेबस से हटाए राष्ट्रवाद, Secularism जैसे Chapters,और भी बहुत कुछ

HRD मंत्री का ऐलान: CBSE कक्षा 9 से 12वीं तक के सिलेबस को 30% तक करेगा कम

हिमाचल में B.Ed करने के इच्छुकों के लिए राहत देने वाली है ये रपट, क्लिक करें

UGC के निर्देश : सितंबर के अंत तक करवानी होंगी UG Final Semester की परीक्षाएं, और भी बहुत कुछ, जानें


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है