‘जब किसी मामले का राजनीतिक रंग नहीं होता, सीबीआई तब अच्छा काम क्यों करती है’

उन्होंने एजेंसी की कमियों और ताकतों के बारे में स्पष्ट बात की

‘जब किसी मामले का राजनीतिक रंग नहीं होता, सीबीआई तब अच्छा काम क्यों करती है’

- Advertisement -

 


नई दिल्ली। दो वर्ष के अंतराल के बाद आयोजित किए गए डीपी कोहली स्मृति व्याख्यान (DP Kohli memorial lecture) के 18वें संस्करण में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (Central Bureau of Investigation) के एक कार्यक्रम में भारत के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई (Chief Justice of India Ranjan Gogoi) ने मंगलवार को सवाल किया कि ऐसा क्यों होता है कि जब किसी मामले का कोई राजनीतिक रंग नहीं होता, तब सीबीआई (CBI) अच्छा काम करती है। इस दौरान उन्होंने एजेंसी की कमियों और ताकतों के बारे में स्पष्ट बात की और उसे आगे बढ़ने के बारे में सलाह भी दी।

 

यह भी पढ़ें: उन्नाव मामला: पीड़िता के पिता की हत्या मामले में कोर्ट ने सेंगर को बनाया आरोपी

 

उन्होंने कहा, ‘यह सच है, कि कई हाई प्रोफाइल और संवेदनशील मामलों में एजेंसी न्यायिक जांच (Judicial Investigation) के मानकों को पूरा नहीं कर पाई है। यह बात भी उतनी ही सच है कि इस प्रकार की खामियां संभवत: कभी-कभार नहीं होती।’ न्यायमूर्ति गोगोई ने कहा कि इस प्रकार के मामले प्रणालीगत समस्याओं को उजागर करते हैं और संस्थागत आकांक्षाओं, संगठनात्मक संरचना, कामकाज की संस्कृति और शासी राजनीति के बीच समन्वय की गहरी कमी की ओर संकेत करते हैं। उन्होंने कहा, ‘ऐसा क्यों है कि जब किसी मामले का कोई राजनीतिक रंग नहीं होता, तब सीबीआई अच्छा काम करती है। इसके विपरीत स्थिति के कारण विनीत नारायण बनाम भारत संघ मामला सामने आया, जिसमें उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने एजेंसी की सत्यनिष्ठा की रक्षा करने के लिए स्पष्ट दिशानिर्देश तय किए।’

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

भरमौर चौरासी मंदिर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, बग्गा में जाम ने निकाला पसीना

किसी कंपनी ने नहीं दिखाई चंबा से गौरीकुंड तक हेली टैक्सी सेवा में रूचि

शिक्षा बोर्ड का फरमानः स्कालरशिप से वंचित रह सकते हैं पुर्नमूल्यांकन परिणाम रद्द छात्र

बॉलीवुड की दंगल गर्ल फातिमा सना शेख मैक्लोडगंज में बिता रहीं छुट्टियां

पंचायत में भ्रष्टाचार की शिकायतों का 15 दिन में होगा निपटारा, भरेंगे सचिवों के 300 पद

मानसून सत्रः सभी सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में इसी वर्ष स्थापित होंगी आईसीटी लैब

पुलिस हिरासत से भागा चिट्टा तस्कर दबोचा, दो पुलिस कर्मी सस्पेंड

शिक्षा बोर्ड भरेगा जेओए (आईटी) के यह तीन पद, कल से करें ऑनलाइन आवेदन

सत्ती का बड़ा आरोपः खनन के काम में लगे मुकेश के पीए, बहस की दी चुनौती

हिमाचल विधानसभा में अब सवालों के प्रतिवेदनों के कागजी दस्तावेज नहीं मिलेंगे !

मानसून सत्रः ग्रामीण विद्या उपासक व पैट वेतन विसंगति पर यह बोले शिक्षा मंत्री

डीसी से मिलीं पंचायत प्रधानः बोलीं-क्वार्टर आने को कह रहा अधिकारी, नहीं होने दे रहा काम

मानसून सत्रः एनपीएस और पेंशन बढ़ोतरी को लेकर सदन में क्या बोले जयराम-जानिए

राठौर बोले, चिदंबरम की गिरफ्तारी सोची-समझी राजनीतिक रणनीति

तीन घंटे की पूछताछ में चिदंबरम ने नहीं किया सहयोग, कोर्ट में पेशी कुछ देर में

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है