Covid-19 Update

41,860
मामले (हिमाचल)
33,336
मरीज ठीक हुए
667
मौत
9,525,668
मामले (भारत)
64,510,773
मामले (दुनिया)

सिंधिया की राह चलीं कांग्रेस की बाग़ी विधायक अदिति सिंह; Twitter हैंडल से हटाया INC

सिंधिया की राह चलीं कांग्रेस की बाग़ी विधायक अदिति सिंह; Twitter हैंडल से हटाया INC

- Advertisement -

रायबरेली। कांग्रेस का सबसे बड़ा गढ़ माने जाने वाले रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह (Aditi Singh) मध्यप्रदेश के ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की राह पर चलती नजर आ रही हैं। दरअसल कांग्रेस की इस बाग़ी विधायक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कांग्रेस का नाम हटा (Congress Name removed) दिया है। उधर कांग्रेस का नाम अदिति के अकाउंट से हटते ही ट्विटर ने अदिति सिंह के आईडी से ब्लूटिक हटा दिया है।

‘बस पॉलिटिक्स’ पर अपनी पार्टी के रुख की कड़ी आलोचना की थी

गौरतलब है कि इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी पहले अपना ट्वीटर प्रोफाइल व बायो बदला था, इसके बाद पार्टी भी बदलकर राजनीति में भूचाल मचा दिया था। जिसके चलते मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिर गई थी। अब कांग्रेस के गढ़ रायबरेली में सदर विधायक ने अपनी अलग राह चुन ली है।

यह भी पढ़ें: IIT स्टूडेंट्स द्वारा बनाया गया Mitron App दे रहा TikTok को टक्कर

बता दें कि इससे पहले अदिति सिंह ने यूपी में लॉकडाउन के बीच कई दिनों तक चली ‘बस पॉलिटिक्स’ पर अपनी पार्टी के रुख की कड़ी आलोचना की थी। इस पूरे मामले में विधायक अदिति सिंह ने योगी सरकार के रुख का समर्थन किया था।

विशेष सत्र में पार्टी व्हिप का उल्लंघन कर विधानसभा में उपस्थित हुई थीं

अब उन्होंने अपना ट्विटर हैंडल @AditiSinghRBL कर लिया है। यहां आरबीएल का मतलब रायबरेली है। इस मसले पर एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान अदिति सिंह ने कहा कि दुनिया इस समय कोरोना महामारी (Corona Epidemic) से लड़ रही है। मेरा सबसे निवेदन है कि श्रमिक (Laborers) भाइयों की मदद ज्यादा से ज्यादा करें। मेरे निजी टि्वटर हैंडल पे क्या चल रहा है? इससे ज्यादा महत्वपूर्ण विषय है, कोरोना वायरस से लड़ाई और पीड़ितों की मदद। इससे पहले भी पिछले साल अक्टूबर में एक दिन के विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान एक तरफ प्रियंका गांधी लखनऊ में प्रदर्शन कर रही थीं। वहीं अदिति सिंह सत्र में पार्टी व्हिप का उल्लंघन कर विधानसभा में उपस्थित थीं। उस समय पार्टी की तरफ से उन्हें नोटिस भी जारी किया गया था, लेकिन नतीजा सिफर ही रहा।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है