दिल्ली के लुटियंस जोन में मोटापे के कारण मर रहे हैं पेड़, अब होगा इनका इलाज

मानसून के दौरान किया जायगा दुरुस्त

दिल्ली के लुटियंस जोन में मोटापे के कारण मर रहे हैं पेड़, अब होगा इनका इलाज

- Advertisement -

नई दिल्ली। आपने आमतौर पर इंसानों में मोटापे के बारे में सुना होगा लेकिन आज हम एक ऐसे मामले के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें पेड़ों को मोटापा हो रहा है और उस बजह से वो मर भी रहे हैं। जी हां.. यह मामला सामने आया है दिल्ली (Delhi) से जहां के लुटियंस जोन (Lutyens Zone) में भारी वजन के कारण पेड़ मर रहे हैं। इसके लिए दिल्ली नगर पालिका परिषद ने अब पेड़ों का इलाज करने का फैसला लिया है ताकि उन्हें बचाया जा सके।


यह भी पढ़ें – अब रात को चौकीदारी की जरूरत नहीं, चीन में आया नया चौकीदार

मोटापे से पीड़ित इन पेड़ों को मानसून के दौरान माइक्रो न्यूट्रियंट (Micro NutyRint) का इस्तेमाल कर दुरुस्त किया जायगा। इससे पेड़ों का वजन कम होगा और ये मजबूती से बढ़ेंगे। एनडीएमसी इलाके में 110 एवेन्यू रोड हैं, जिन पर अंग्रेजों के समय लगाए गए पेड़ अब विशालकाय हो चुके हैं। गिरते भूजल स्तर और कंक्रीट की सड़कें होने की वजह इनकी जड़ें जमीन के ज्यादा नीचे तक नहीं जा पा रही हैं। इससे वह कमजोर पड़ जा रहे हैं और तेज हवा और बारिश से उखड़ कर गिर जाते हैं। एनडीएमसी के उद्यान विभाग के निदेशक एस चिल्लईया ने बताया कि हमने ऐसे पेड़ों की पहचान की है, जिनकी जड़ें कमजोर हैं। हम इन पेड़ों का इलाज करेंगे, ताकि मानसून में वे गिरे नहीं।’ मोटे पेड़ों को एनपीके फर्टीलाइजर दवाई गोलियों के रूप में दी जाएगी। पेड़ के चारों तरफ जमीन में पाइप डालकर यह दवा दी जाएगी। इससे पेड़ों को जब भी पानी दिया जाएगा तब वह जड़ के अंतिम हिस्से तक पहुंचेगा। इससे जड़ें पानी को ढूंढ़ते हुए गहराई तक पहुंचेंगी और पेड़ को मजबूती मिलेगी।

 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है