सिर्फ एक वोटर के लिए चुनाव आयोग के अधिकारियों को चलना पड़ता है पूरा दिन पैदल

सुबह 7 से खोलकर रखना पड़ता है पोलिंग स्टेशन

सिर्फ एक वोटर के लिए चुनाव आयोग के अधिकारियों को चलना पड़ता है पूरा दिन पैदल

- Advertisement -

नई दिल्ली। देशभर में चुनाव सुचारू रूप से संपन्न करवाने के लिए चुनाव आयोग (Election Commission) को कई मुश्किल हालातों को सामना करना पड़ता है। अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के अंजॉ जिला में एक गांव है जहां सिर्फ एक वोटर (Voter) मौजूद है और उसका मतदान करवाने के लिए चुनाव आयोग के अधिकारियों को बीहड़ और दुर्गम रास्तों पर पूरा एक दिन पैदल चलना पड़ता है। जिस वोटर की हम बात कर रहे हैं उसका नाम सोकेला टयांग है। वह अंजॉ जिले के मालोगम गांव में अपने बच्चों और पति के साथ रहती हैं।


यह भी पढ़ें :-सिर्फ 4 दिन बाकी, वोटर लिस्ट में दर्ज करवा लें अपना नाम वरना नहीं कर पाएंगे मतदान

यह इलाका हेलिलयांग विधानसभा में आता है। मालोगम गांव में सोकेला के अलावा कुछ और परिवार भी रहते हैं, लेकिन 39 साल की सोकेला के अलावा बाकी सभी वोटर्स ने खुद को दूसरे पोलिंग स्टेशन्स पर रजिस्टर करवा लिया है। इस बारे में राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी ने बताया कि 2014 के चुनाव (Election) में वहां दो वोटर्स थे, लेकिन फिर सोकेला के पति जेनेलम तैयांग ने अपना नाम दूसरे बूथ पर रजिस्टर करवा लिया।

अधिकारी ने बताया कि जिस इलाके में सोकेला रहती हैं वहां गाड़ी आदि नहीं जा सकती इसलिए पैदल जाना पड़ता है। इस सफर को पूरा करने में पोलिंग पार्टी (Polling party) को पूरा एक दिन लग जाता है। इतना ही नहीं उन्हें पोलिंग स्टेशन (Polling station) को सुबह 7 से शाम 5 बजे तक खोलकर रखना पड़ता है। किसी को नहीं पता होता कि वह वोट डालने कब आएंगी। अधिकारी कहते हैं कि किसी को उनका वोट जल्दी डालने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है