Exclusive: शीला दीक्षित के जीवन से जुड़े वो 5 किस्से, जो याद किए जाएंगे

इतनी बार देखी थी DDLJ कि घरवालों को मना करना पड़ा

Exclusive: शीला दीक्षित के जीवन से जुड़े वो 5 किस्से, जो याद किए जाएंगे

- Advertisement -

नई दिल्ली। द‍िल्‍ली कांग्रेस की अध्‍यक्ष (Delhi Congress President) और पूर्व सीएम 81 वर्षीय शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) का शनिवार को निधन (passes away) हो गया। बताया गया कि तबीयत खराब होने के बाद शीला दीक्षित को एस्‍कॉर्ट अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। जहां पर उन्हें आईसीयू में एडमिट किया गया था। बताया जा रहा है कि दिल का दौरा पड़ने के चलते उनकी मौत हुई है। उन्होंने दोपहर के करीब 03:55 बजे अपनी आखिरी सांस ली। इस सब के बीच शीला दीक्षित से जुड़े कुछ खास किस्से सोशल मीडया पर जमकर वायरल हो रहे हैं। आइए डालते हैं एक नजर इन 5 खासमखास किस्सों पर-


1- इतनी बार देखी थी DDLJ कि घरवालों को मना करना पड़ा- शीला सिनेमा की बेहद शौकीन थीं। उन्होंने शाहरुख खान की फिल्म “दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे” कई बार देखी थी। शीला ने ये फिल्म इतनी ज्यादा बार देखी थी कि घरवालों को ये कहना पड़ा था कि अब इस फिल्म को अब मत देखें।

2- 15 साल की शीला पंडित नेहरू से मिलने पहुंचीं- शीला दीक्षित ने अपनी किताब ‘सिटीजन दिल्ली: माय टाइम्स, माय लाइफ’ में इस बात का जिक्र किया जब वे देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू से मिलने पैदल पहुंची थीं। वे दिल्ली में अपने घर से निकलीं और पैदल ‘तीनमूर्ति भवन’ तक गईं। तीनमूर्ति के गेट पर मौजूद गार्ड ने 15 साल की शीला से पूछा कि आप किससे मिलने जा रही हैं’ शीला ने जवाब दिया- ‘पंडितजी से!’ उसी समय जवाहरलाल नेहरू अपनी एंबेसडर कार पर सवार हो कर कहीं बाहर जाने के लिए निकल रहे थे। शीला ने उन्हें देखकर अपना हाथ हिलाया तो जवाब ने पंडित नेहरू में भी हाथ हिला कर उनका अभिवादन स्वीकार किया। उस वक्त उनकी उम्र 15 साल की थी।

3- दिल की बात कहने के लिए शीला दीक्षित ने किया एक घंटे DTC बस का सफर- एक इंटरव्यू में शीला दीक्षित अपनी लव स्टोरी के बारे में बताती हैं कि, ‘हम इतिहास की एमए क्लास में साथ-साथ थे। मुझे विनोद कुछ ज्यादा अच्छे नहीं लगे। मुझे लगा ये पता नहीं अपने आप को क्या समझते हैं। वे मुझे एरोगेंट लगे। इसके बाद हमारी दोस्ती की शुरुआत इस तरह हुई कि हमारी एक दोस्त और विनोद का एक दोस्त प्रेमी प्रेमिका थे। हमने एक बार उनके झगड़े को सुलझाया था इसके बाद हम मिलने लगे।’ शीला और विनोद दीक्षित एक साथ अक्सर फिरोजशाह रोड घूमने जाया करते थे। एक बार डीटीसी की दस नंबर बस पर वे दोनों चांदनी चौक से गुजर रहे थे तो विनोद ने कहा कि मैं अपनी मां से कहने वाला हूं कि मैं जिस लड़की को पसंद करता हूं वो तुम हो। विनोद ने उसी दिन शीला दीक्षित के सामने शादी का प्रस्ताव रख दिया था। शुरू में विनोद के परिवार की तरफ से थोड़ा विरोध हुआ लेकिन अंततः दोनों ने शादी कर ली।

4- शीला दीक्षित का इंदिरा लहर और कन्नौज कनेक्शन- शीला दीक्षित के चुनावी सफर की शुरूआत 1984 में हुई थी। जहां उन्होंने पहली बार कन्नौज से लोकसभा चुनाव लड़ीं और संसद पहुंच गईं। यूपी की राजनीति में शीला दीक्षित 1984 में पहली बार कन्नौज से चुनाव लड़ा था और वह यूपी के कन्नौज संसदीय सीट से लोकसभा चुनाव जीत भी गईं थीं। लेकिन ये चुनाव इंदरा गांधी की हत्या के बाद हुए थे जिसमें कांग्रेस का सहानुभूति वोट मिले थे। इस लहर के बावजूद शीला लगातार तीन बार चुनाव हारीं। जिसके बाद राजीव गांधी की कैबिनेट में उन्हें संसदीय कार्य मंत्री के रूप में जगह मिली।

5- शीला दीक्षित को यूपी में एक आंदोलन को लेकर जेल में बिताने पड़े थे 23 दिन- शीला दीक्षित ने 1990 में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार को लेकर किए गए आंदोलन के लिए अपने 82 सहयोगियों के साथ 23 दिन जेल में बिताए थे। मिरांडा हाउस से हिस्ट्री में मास्टर्स शीला ने संयुक्त राष्ट्र में 1984-1989 तक भारत का प्रतिनिधित्व किया। शीला 1984 में राजीव गांधी की सरकार में मंत्री बनाई गई थीं।

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

बॉलीवुड की दंगल गर्ल फातिमा सना शेख मैक्लोडगंज में बिता रहीं छुट्टियां

पंचायत में भ्रष्टाचार की शिकायतों का 15 दिन में होगा निपटारा, भरेंगे सचिवों के 300 पद

मानसून सत्रः सभी सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में इसी वर्ष स्थापित होंगी आईसीटी लैब

पुलिस हिरासत से भागा चिट्टा तस्कर दबोचा, दो पुलिस कर्मी सस्पेंड

शिक्षा बोर्ड भरेगा जेओए (आईटी) के यह तीन पद, कल से करें ऑनलाइन आवेदन

सत्ती का बड़ा आरोपः खनन के काम में लगे मुकेश के पीए, बहस की दी चुनौती

हिमाचल विधानसभा में अब सवालों के प्रतिवेदनों के कागजी दस्तावेज नहीं मिलेंगे !

मानसून सत्रः ग्रामीण विद्या उपासक व पैट वेतन विसंगति पर यह बोले शिक्षा मंत्री

डीसी से मिलीं पंचायत प्रधानः बोलीं-क्वार्टर आने को कह रहा अधिकारी, नहीं होने दे रहा काम

मानसून सत्रः एनपीएस और पेंशन बढ़ोतरी को लेकर सदन में क्या बोले जयराम-जानिए

राठौर बोले, चिदंबरम की गिरफ्तारी सोची-समझी राजनीतिक रणनीति

तीन घंटे की पूछताछ में चिदंबरम ने नहीं किया सहयोग, कोर्ट में पेशी कुछ देर में

लोगों ने भूखे-प्यासे रहकर बिताई रात, शाम तक बहाल हो पाएगा मनाली-लेह मार्ग

मानसून सत्र : पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने किया वॉकआउट

जंगली मशरूम खाने से महिला की मौत, तीन पहुंचे अस्पताल

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है