पीएसए के तहत बंदी बनाए गए “फारुक अब्दुल्ला” दो साल तक रह सकते हैं कैद

इस कानून के मुताबिक, किसी को बिना किसी सुनवाई के दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है

पीएसए के तहत बंदी बनाए गए “फारुक अब्दुल्ला” दो साल तक रह सकते हैं कैद

- Advertisement -

श्रीनगर। पूर्व सीएम एवं नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष डॉ फारुक अब्दुल्ला (Dr. Farooq Abdullah) दो साल तक कैद में रखे जा सकते हैं। डॉ अब्दुल्ला को राज्य सरकार ने रविवार रात ही पीएसए (PSA) के तहत बंदी बनाया है। इस कानून के मुताबिक, संबधित व्यक्ति को बिना किसी सुनवाई के अगले दो साल तक एहतियातन हिरासत में रखा जा सकता है। आज सुबह सुप्रीम कोर्ट में एमडीएम के नेता वायको द्वारा डॉ अब्दुल्ला की रिहाई के लिए दायर याचिका पर सुनवाई से पूर्व ही उन्हें पीएसए के तहत बंदी बनाए जाने की पुष्टि हुई है।


तीन मर्तबा सीएम रह चुके डॉ अब्दुल्ला को बीती पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर  (Jammu and Kashmir) के पुनर्गठन विधेयक को लागू करने से पूर्व उनके घर में प्रशासन ने एहतियात के तौर पर नजरबंद किया था। उनके पुत्र पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला को भी उसी रात एहतियातन हिरासत में लिया गया था। वह हरि निवास में एहतियातन हिरासत में हैं। जबकि, डॉ फारुक अब्दुल्ला अपने ही घर में बंद हैं। पीएसए के तहत बंदी बनाए जाने वाले वह राज्य पहले पूर्व सीएम और सांसद हैं।

यह भी पढ़ें :-अब इस राज्य ने भी किया नए ट्रैफिक कानून लागू करने से इनकार

 

इसके अलावा उन्हें जहां रखा गया है, उसे अस्थायी जेल का दर्जा दिया गया है। अलगाववादियों को भी इसी कानून के तहत बंदी बनाया जाता रहा है। इस कानून के मुताबिक, दो साल तक किसी तरह की सुनवाई नहीं हो सकती थी, लेकिन वर्ष 2010 में इसमें कुछ बदलाव किए गए। पहली बार के उल्लंघनकर्ताओं के लिए पीएसए के तहत हिरासत अथवा कैद की अवधि छह माह रखी गई और अगर उक्त व्यक्ति के व्यवहार में किसी तरह का सुधार नहीं होता है तो यह दो साल तक बढ़ाई जा सकती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group … …

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

काम में कौताही पर पंचायत प्रधान और वार्ड सदस्य बर्खास्त

संतोषगढ़ के चौकी प्रभारी लाइन हाजिर, एसपी के आदेशों को हल्के में ले रहे थे

सेल्फी ले रही दो सहेलियां पार्वती नदी में बही, एक बच निकली दूसरी का अता-पता नहीं

शांता क्यों बोले ,जीवन के अंतिम पड़ाव पर मुझे किसी से भी प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं

धूमल बोलेः कागजी सवाल करते हैं कांग्रेसी, कागजों में बनती है राजधानी

ऊना में नशा माफियाः अवैध शराब, चरस और प्रतिबंधित दवाओं सहित दो धरे

महिला मौत मामलाः एसएचओ हमीरपुर ने शव ले जा रहे लोगों पर क्यों तानी पिस्टल, होगी जांच

रातों रात सड़क पर कर डाला कब्जा, विभाग ने भेजा नोटिस

शराब की बोतल हाथ में लेकर छात्राओं के सामने टिक टॉक वीडियो बनाता गया कॉलेज कर्मी

मुकेश बोले, धर्मशाला दूसरी राजधानी है,सत्ता में लौटते ही उठाएंगे व्यापक कदम

दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे राज्यपाल दत्तात्रेय

टैक्सी चालक हत्या मामले में परिजनों ने मंडी-पठानकोट एनएच पर किया चक्का जाम

पच्छाद उपचुनाव : डैमेज कंट्रोल के लिए खुद प्रचार में उतरे सीएम, बडू साहिब गुरुद्वारे में नवाया शीश

पहले किया हमला फिर लगाई आग, पति-पत्नी की मौत, बेटी गंभीर

सुजानपुर चौगान में नशे में धुत्त पड़ी मिली दो युवतियां, न खुद की होश न दुनिया की खबर

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है