Covid-19 Update

38,435
मामले (हिमाचल)
29,686
मरीज ठीक हुए
604
मौत
9,351,224
मामले (भारत)
61,988,059
मामले (दुनिया)

गुजरात के पूर्व सीएम #Keshubhai_Patel का निधन : कोरोना से जीत चुके थे जंग, मौत से हारे

सीएम विजय रुपाणी ने जताया शोक, परिवार को दी सांत्वना

गुजरात के पूर्व सीएम #Keshubhai_Patel का निधन : कोरोना से जीत चुके थे जंग, मौत से हारे

- Advertisement -

अहमदाबाद। गुजरात के पूर्व सीएम और राज्य के दिग्गज नेता केशुभाई पटेल (Keshubhai Patel) का आज सुबह निधन हो गया है। सुबह सांस लेने में तकलीफ होने के बाद केशुभाई पटेल को अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। केशुभाई पटेल 92 साल के थे। कुछ वक्त पहले ही केशुभाई पटेल कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए थे, हालांकि उन्होंने कोरोना को मात दे दी थी। राज्य के सीएम विजय रुपाणी (CM Vijay Rupani) ने केशुभाई पटेल के निधन पर दुख व्यक्त किया और उनके परिवार को सांत्वना दी।

 

 

केशुभाई पटेल के बेटे के मुताबिक, कोरोना को मात देने के बाद भी उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी। गुरुवार सुबह सांस लेने में तकलीफ के बाद जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया, तब इलाज में उन्होंने कोई रिस्पॉन्ड नहीं किया था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर केशुभाई पटेल के निधन पर शोक जताया है।

 

 

केशुभाई पटेल ने दो बार गुजरात (Gujarat) के सीएम का पद संभाला था, वो 1995 और 1998 में राज्य के सीएम बने थे, लेकिन 2001 में उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ा था। हालांकि, दोनों ही बार केशुभाई पटेल अपने कार्यकाल को पूरा नहीं कर पाए थे। इसके अलावा केशुभाई पटेल गुजरात के उपमुख्यमंत्री का भी पद संभाल चुके हैं। 2001 में सीएम पद से उनके इस्तीफा देने के बाद ही नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम बने थे और 2014 तक राज्य में सत्ता के केंद्र में रहे।

 

 

केशुभाई पटेल का जन्म जूनागढ़ में 24 जुलाई, 1928 को हुआ था, काफी कम उम्र में ही उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ज्वाइन कर लिया था, जिसके बाद जनसंघ और फिर बीजेपी के साथ लंबे वक्त तक रहे। केशुभाई पटेल की गिनती गुजरात में बीजेपी के दिग्गज नेताओं में होती रही है, जिन्होंने जनसंघ के वक्त से ही पार्टी के लिए काम किया था। राज्य में बीजेपी की ओर से पहले सीएम भी केशुभाई पटेल ही थे। पीएम नरेंद्र मोदी ने भी केशुभाई पटेल के साथ लंबे वक्त तक काम किया और अक्सर नरेंद्र मोदी, केशुभाई पटेल का आशीर्वाद लेने के लिए जाते थे। बीजेपी में अनबन होने के कारण केशुभाई पटेल ने 2012 में अपनी नई पार्टी बनाई थी, जिसका नाम गुजरात परिवर्तन पार्टी रखा था। हालांकि, 2014 में केशुभाई पटेल ने अपनी पार्टी का विलय फिर से बीजेपी में कर दिया था।

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है