उन्नाव दुष्कर्म मामले में बीजेपी के निष्कासित विधायक सेंगर पर आरोप तय

सहयोगी शशि के खिलाफ नाबालिग लडकी के अपहरण में आरोप तय

उन्नाव दुष्कर्म मामले में बीजेपी के निष्कासित विधायक सेंगर पर आरोप तय

- Advertisement -

नई दिल्ली। उन्नाव दुष्कर्म मामले में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने बीजेपी से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर (kuldeep Sengar) के खिलाफ बलात्कार के आरोप तय कर दिए हैं। इसके साथ ही सेंगर के सहयोगी शशि सिंह के खिलाफ नाबालिग लड़की के अपहरण के संबंध में आरोप तय किए हैं। कोर्ट ने कहा कि मामले की सुनवाई शनिवार यानी 10 अगस्त को करने के लिए हाईकोर्ट से अनुमति ली जाएगी। अगर अनुमति मिलती है तो सुनवाई शनिवार या मंगलवार को होगी क्योंकि सोमवार को ईद की छुट्टी है। तीस हजारी कोर्ट के जिला व सत्र न्यायाधीश धर्मेश शर्मा के समक्ष सीबीआई ने आरोप पत्र का हवाला देते हुए कहा कि पीड़िता के पिता की पहले बुरी तरह पिटाई की गई थी और उसके कपड़े फाड़ दिए गए थे।



यह भी पढ़ें: उन्नाव दुष्कर्म मामला : सीबीआई ने कहा – कुलदीप सिंह सेंगर पर लगाए आरोप सही

सीबीआई (CBI) ने यह भी आरोप लगाया कि जो कट्टा व चार कारतूस पीड़िता की निशानदेही पर बरामद किया गया वह उसका नहीं था और उस पर यह हथियार थोपा गया था। आरोपियों ने पुलिस के साथ मिलीभगत कर यह किया था। इसके अलावा एसआई कामता प्रसाद की गिरफ्तारी के एक माह बाद उसके घर से एक कट्टा बरामद हुआ था। इस पर कामता प्रसाद के वकील भरत सिंह ने आपत्ति की। इस पर सीबीआई ने कहा कि उस हथियार की बरामदगी का इस केस से कोई लेना-देना नहीं है। बचाव पक्ष के वकीलों ने इन आरोपियों की ओर से आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि सीबीआई का केस पूरी तरह झूठा व बेबुनियाद है। इस बात को कोई साक्ष्य नहीं है कि पीड़िता के पिता को अवैध हथियार के मामले में फंसाया गया। पुलिस ने खुद उससे कट्टा व चार कारतूस बरामद किए थे।


यह भी पढ़ें: विस चुनाव की तैयारी : दिल्ली, हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र के चुनाव प्रभारी नियुक्त

इन तथ्यों के आधार पर आरोपियों के खिलाफ आरोप तय नहीं किए जाने चाहिए। दूसरी ओर पीड़िता व उसकी मां की ओर से कोर्ट (court) में पेश हुए वकील धर्मेंद्र कुमार मिश्रा व अधिवक्ता पूनम कौशिक ने कहा कि पीड़िता के पिता की गिरफ्तारी से पहले बेरहमी से पिटाई हुई थी और उसे अस्पताल में भी भर्ती करवाया गया था। इसके बाद भी उन्नाव के सीएमओ ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजने के लिए फिट बताया गया था और जेल में उसकी मौत हो गई थी।इसमें सीएमओ तथा आरोपियों की साजिश साफ नजर आती है।


यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य, जम्मू-उधमपुर-सांबा में खुले स्कूल, नमाज के लिए निकले लोग

पीड़ित पक्ष ने यह भी कहा कि मामले में आरोपी यूपी पुलिस का सिपाही आमिर खान पर केवल पीड़िता से कट्टा व कारतूस बरामदगी का आरोप है। वह यह काम खुद अपनी मर्जी से नहीं करेगा। इस मुद्दे पर एसपी उन्नाव व स्थानीय एसओ तथा एसआई की भूमिका की जांच करवाई जाए। मामले में जमानत पर चल रहे आरोपी यूपी पुलिस के इंस्पेक्टर अशोक सिंह भदौरिया, एसआई कामता प्रसाद पेश हुए। इसके अलावा कुलदीप सिंह सेंगर, शैलेंद्र सिंह उर्फ टिंकू सिंह, विनीत मिश्रा उर्फ विनय मिश्रा, बिरेंद्र सिंह उर्फ बौवा सिंह, राम शरण सिंह, शशि प्रताप सिंह व जयदीप सिंह उर्फ अतुल सिंह को तिहाड़ जेल से लाकर पेश किया गया था।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

करसोग: अकेली लड़की के कमरे में घुसकर बांध दिया मुंह, फिर रात भर लूटी आबरू

अगले साल होंगे 23 सार्वजनिक अवकाश, महिलाओं को मिलेंगी 3 एक्स्ट्रा छुट्टियां

हिमाचली संस्कृति से रूबरू हुए विदेशी, जाखू मंदिर और चायल पैलेस का किया भ्रमण

हो जाओ सावधान ! 14 से 25 वर्ष के लोगों में तेजी से बढ़ रहा है मधुमेह

हिमाचल पुलिस हेडक्वार्टर के पास 6 माह की मासूम को टैक्सी ने रौंदा, दर्दनाक मौत

मां की हत्या पर बेटी बोली, पांच दिन पहले भी बाप ने किया था दराट से वार

सुक्खू की गैरहाजिरी में रजनी ने कही बड़ी बात, गहराई से पढ़ें

हिमाचल की बेटी ऋचा शर्मा बनी स्वाइक वाक मिस इंडिया-2019 की फर्स्ट रनरअप

रोहतांग दर्रे में बर्फीले तूफान में फंसे कई वाहन, बीआरओ ने 14 लोग किए रेस्क्यू

प्रसिद्ध गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण का निधन : दो घंटे स्ट्रेचर पर पड़ा रहा शव, नहीं मिली एंबुलेंस

प्रदेशभर में कांग्रेसियों ने पंडित नेहरू को किया याद

नशे में धुत वाहन चालकों की खैर नहीं, सुंदरनगर पुलिस ने काटे चालान

हरियाणा कैबिनेट विस्तार : छह कैबिनेट और चार राज्य मंत्रियों ने ली शपथ

टारना मार्ग में ट्रक फंसाः यातायात रहा प्रभावित, छात्र व दफ्तर जाने वाले हुए परेशान

अवमानना मामले में राहुल गांधी को राहत, सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार की माफी

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है