Covid-19 Update

42,161
मामले (हिमाचल)
33,604
मरीज ठीक हुए
676
मौत
9,534,964
मामले (भारत)
64,844,711
मामले (दुनिया)

J&K: बिना कारण बताए सील किया गया ‘कश्मीर टाइम्स’ का दफ्तर; मालिक ने सरकार पर जड़े आरोप

कश्मीर टाइम्स का यह दफ्तर श्रीनगर के प्रेस एंक्लेव में स्थित है

J&K: बिना कारण बताए सील किया गया ‘कश्मीर टाइम्स’ का दफ्तर; मालिक ने सरकार पर जड़े आरोप

- Advertisement -

श्रीनगर। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के श्रीनगर में संपदा विभाग के अधिकारियों द्वारा राज्य के सबसे पुराने अखबारों में से एक कश्मीर टाइम्स (Kashmir Times) अखबार के दफ्तर को सोमवार को सील कर दिया गया। अखबार के मालिक का कहना है कि इस कार्रवाई में कानून का पालन नहीं किया गया है। दफ्तर को सील करने से पहले ना तो कोई नोटिस दिया गया और ना ही इसकी कोई जानकारी दी गई। वहीं, कई राजनेताओं ने इसे लेकर केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है कि वह प्रेस की स्वतंत्रता छीनना चाहती है और उसे चुप कराना चाहती है।

अनुच्छेद 370 हटाने के बाद SC तक गई थीं अखबार की संपादक

इस अंग्रेजी अखबार का मुख्यालय जम्मू में है और यह केंद्र शासित प्रदेश के दोनों क्षेत्रों से प्रकाशित होता है। वहीं, कश्मीर टाइम्स का यह दफ्तर श्रीनगर के प्रेस एंक्लेव में स्थित है। अखबार के मालिक ने यह भी कहा है कि उनके अखबार का ऑफिस क्यों सील किया गया, इसका कोई कारण उन्हें नहीं बताया गया। बता दें कि इससे पहले कश्मीर टाइम्स की संपादक और मालिक अनुराधा भसीन जमवाल का जम्मू स्थित घर भी सरकार ने खाली करा लिया था। अनुराधा भसीन ने कहा, ‘श्रीनगर में हमारे कार्यालय को बंद कर दिया गया। दफ्तर को सील करने के दौरान किसी भी कानूनी प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया। कोई भी नोटिस नहीं दिया गया। यहां तक कि उनके दफ्तर का अलॉटमेंट भी रद्द नहीं किया गया न ही बेदखली की कोई प्रक्रिया की गई।’

यह भी पढ़ें: पंजाब में कृषि कानूनों के खिलाफ तीन बिल पेश: MSP से कम कीमत पर उत्पाद खरीदने पर 3 साल की जेल

उन्होंने कहा, ‘हम संपदा विभाग गए और उनसे (कार्यालय खाली करने) इस संबंध में आदेश देने को कहा, लेकिन उन्होंने आदेश जारी नहीं किया। इसके बाद हमने अदालत का रुख किया लेकिन वहां से भी कोई आदेश नहीं आया।’ भसीन ने इस कदम को अपने खिलाफ ‘प्रतिशोध’ बताया, क्योंकि वह सरकार के खिलाफ बोलीं थी और उन्होंने पिछले साल अनुच्छेद 370 हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर में मीडिया पर लगाई गईं पाबंदियों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है