Covid-19 Update

11908
मामले (हिमाचल)
7457
मरीज ठीक हुए
113
मौत
5,351,723
मामले (भारत)
30,833,232
मामले (दुनिया)

Rahul से बोले Rajiv Bajaj – लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को पहुंची गहरी चोट, लोगों में डर

Rahul से बोले Rajiv Bajaj – लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को पहुंची गहरी चोट, लोगों में डर

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना वायरस संकट के बीच देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा है जिसे लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर रहा है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) लगातार मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं। राहुल अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने को लेकर विशेषज्ञों से बातचीत कर रहे हैं। इसी कड़ी में उन्होंने गुरुवार को बजाज ऑटो के मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव बजाज (Rajiv Bajaj) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के जरिए बात की। राहुल गांधी के साथ संवाद में राजीव ने लॉकडाउन और सरकारी प्रयासों पर खुलकर राय रखी और कहा कि वे सच बोलने से नहीं डरते। उन्होंने कहा, ‘एक व्यक्ति के रूप में हम बहुत खुले हैं। हमारा देश खुलापन वाला देश है, इसे हमे खत्म नहीं करना होगा चाहे सरकार के लिए हो या कारोबार के लिहाज से।’ राजीव ने कहा कि लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को बहुत गहरी चोट पहुंची है और लोगों में इसको लेकर काफी डर बना हुआ है।


भारत में एक तरह का ड्रैकियन लॉकडाउन

बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने पूछा कि आपके यहां स्थिति कैसी है जिसके जवाब में बजाज ने कहा कि सभी के लिए नया माहौल है। हम इसमें ढलने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच कारोबार के साथ बहुत कुछ हो रहा है। गांधी ने पूछा कि किसी ने नहीं सोचा था कि पूरी दुनिया में लॉकडाउन (Lockdown) हो जाएगा, ऐसा विश्व युद्ध के समय पर भी नहीं हुआ था जिसके जवाब में राजीव बजाज ने कहा कि भारत में एक तरह का ड्रैकियन लॉकडाउन है। ऐसा कहीं पर भी नहीं हुआ। हमारे यहां की तुलना में कई देशों में बाहर निकलने की अनुमति थी।

हमारे यहां फैक्ट और सच्चाई में कमी रह गई

कांग्रेस नेता ने कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं जो इससे निपट सकते हैं लेकिन करोड़ों मजदूर ऐसे हैं जिन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। इसके जवाब में बजाज ने कहा कि भारत ने पश्चिम की ओर देखा। पूर्वी देशों में इस पर बेहतर काम हुआ है। पूर्वी देशों ने तापमान, मेडिकल सहित तमाम मुश्किलों के बावजूद बेहतर काम किया है। ऐसी कोई मेडिकल सुविधाएं नहीं हैं जो इससे न निपट सकें। मुझे लगता है कि हमारे यहां फैक्ट और सच्चाई में कमी रह गई। लोगों को लगता है कि ये बीमारी कैंसर की तरह है। लोगों की सोच बदलने और जीवन को पटरी पर लाने की जरूरत है। इसमें लंबा समय लग सकता है। आम आदमी के नजरिए से लॉकडाउन काफी मुश्किल है। भारत जैसा लॉकडाउन कहीं नहीं हुआ। हर कोई बीच का रास्ता निकालना चाहता है। हमें जापान और स्वीडन की तरह नीति अपनानी चाहिए थी। वहां नियमों का पालन हो रहा है लेकिन लोगों का जीवन मुश्किल नहीं बनाया जा रहा।

राहुल ने कहा कि हमारे यहां प्रवासी मजदूर हैं लेकिन हम पश्चिम की तरफ देखते रहे। हम खुद अपनी मुश्किलों को क्यों नहीं देखते हैं। इसपर बजाज ऑटो के एमडी ने कहा कि यदि आप मार्च में वापस जाएं तो आप तीन महीने पहले क्या सोचते? राहुल ने कहा कि हमारी चर्चा राज्यों को ताकत देनी चाहिए और केंद्र सरकार का समर्थन करना चाहिए, इसे लेकर हुई थी। केंद्र को रेल-विमान पर जबकि मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी को जमीन पर लड़ाई लड़नी चाहिए थी। मेरे हिसाब से लॉकडाउन फेल है। भारत ने दो महीने पहले पॉज बटन दबाया। अब केंद्र सरकार पीछे हट रही है। बातचीत के दौरान बजाज ने कहा कि यदि कोई मास्क नहीं पहन रहा है तो उसे सड़क पर बेइज्जत किया जा रहा है जो गलत है। आज दुनिया में सरकारें सीधे आम लोगों को मदद दे रही हैं। भारत में सरकार की तरफ से आम लोगों के हाथ में पैसा नहीं दिया गया।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

अटल टनल रोहतांग में 4G नेटवर्क की सुविधा का Trial सफल; जानें कितनी मिलेगी स्पीड

Big Breaking: शिमला में कंडा जेल का कैदी पुलिस को चकमा देकर हुआ फरार

Rohru: बर्फबारी में बिजली-पानी और सड़कों को नहीं होगा नुकसान, प्रदेश सरकार निकालेगी स्थायी हल

HPU से करनी है PhD तो तीन अक्टूबर तक है मौका; 66 सीटों के लिए करें ऑनलाइन आवेदन

Una: गगरेट में धरे रेत तस्कर, पंजाब जा रहे पांच टिप्परों से वसूला 75 हजार का जुर्माना

सोलन में बैचवाइज प्रशिक्षित स्नातक अध्यापकों की Counseling 26 को

#Himachal में अब साहसिक पर्यटन गतिविधियां होंगी सुरक्षित, जाने क्या है सरकार का प्लान

जितने में #Reliance जैसी 6 कंपनियों को खरीदा जा सके उतना तो भारत सरकार पर कर्ज है; पढ़ें रिपोर्ट

30 साल की सेवा के बाद आखिरी सफर पर निकला #INS_Viraat: इसके लोहे से बनेंगी मोटरबाइक्स

शोषण कर रही है Fourlane निर्माण कर रही कंपनी, ठेकेदार यूनियन करेगी अब नंगा

‘ऑरो-स्कॉलर’की हिमाचल प्रदेश में शुरुआत, APP के माध्यम से जुड़ेंगे शिक्षक और छात्र

पालमपुर : हिमाचल के पर्वतों में मिला कैंसर का इलाज, वैज्ञानिकों ने खोजा एंजाइम

IPL 2020: आज होगा क्रिकेट के महासंग्राम का आगाज; मुंबई-चेन्नई के बीच उद्घाटन मुकाबला

गूगल द्वारा हटाए जाने के कुछ घंटे बाद प्ले स्टोर पर वापस लौटा #Paytm; लेकिन अब ऐप में हुआ ये बदलाव

विधि सदस्य की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर HC ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी की काउंसलिंग स्थगित- जाने कारण

#HPBose_ Dharamshala: बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट, वेबसाइट में देखें

बड़ी खबर: हिमाचल में सितंबर के बाद स्कूल खुलने के संकेत; छात्रों के #Syllabus को लेकर भी बड़ा फैसला

Himachal: तकनीकी शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों को अगली कक्षा में करेगा प्रमोट, इनकी होंगी परीक्षाएं

मार्च की 10वीं और 12वीं SOS की Practical परीक्षा में Absent छात्रों को विशेष अवसर

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथियां घोषित

#HPBose: बड़ा फैसला- SOS के तहत जमा दो मेडिकल व नॉन मेडिकल की हो सकेगी पढ़ाई

#HPBose : शिक्षा बोर्ड ने इन परीक्षाओं की ऑनलाइन आवेदन तिथि बढ़ाई



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है