जैश को दरकिनार कर कश्मीर में अल-बद्र को खड़ा करने में जुटा है पाकिस्तान

खैबर पख्तूनवा प्रांत में चल रही है आतंकियों की भर्ती

जैश को दरकिनार कर कश्मीर में अल-बद्र को खड़ा करने में जुटा है पाकिस्तान

- Advertisement -

श्रीनगर। पुलवामा हमले (Pulwama Attack) के बाद आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद (Jaish e mohammad) पर बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव को देखते हुए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई कश्मीर घाटी में अब अल-बद्र नाम के आतंकी संगठन को खड़ा करने में जुटी है। अल-बद्र के अलगाववादी संगठन जमात-ए-इस्लामी से नजदीकी संबध माने जाते हैं। बता दें कि जमात-ए-इस्लामी को हाल ही में प्रतिबंधित कर दिया गया है।

खुफिया एजेंसियों को मिली ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक, अल-बद्र नाम का कट्टरपंथी गुट एक बार फिर सिर उठा रहा है। आईएसआई (ISI) ने जैश के पुराने काडर को कथित रूप से अल-बद्र में शामिल करना शुरू किया है। अल-बद्र में भर्ती की प्रक्रिया पाकिस्तान अधिकृत खैबर पख्तूनवा प्रांत में चल रही है। यह वही प्रांत है, जहां भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) ने जैश के ठिकानों पर हवाई हमले किए थे।

यह भी पढ़ें: आतंकी हाफिज सईद के पैसों से खरीदा था गुरुग्राम में विला, सरकार ने कुर्क किया

अवाम की आवाज बनना चाहता है अल-बद्र

असल में अल-बद्र कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) के लिए कोई नया संगठन नहीं है। इससे पहले भी यह संगठन घाटी में सक्रिया था। बाद में आईएसआई ने उसे मदद करना बंद कर दिया था। सूत्रों की मानें तो आईएसआई ने घाटी में आतंकी गुटों को फंडिंग करने की अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव किया है। अब वह कश्मीर में सेना के खिलाफ लोगों के गुस्से को जिहाद में बदलना चाहता है। अल-बद्र (Al Badr) के मुखिया बख्त जमीन खान ने जम्मू-कश्मीर में जिहाद की आवाज उठाई है। पिछले महीने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जमीन ने कहा था कि यह गुट कश्मीर की आवाज बनेगा और भारत के खिलाफ जंग छेड़ेगा।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है