Covid-19 Update

41,860
मामले (हिमाचल)
33,336
मरीज ठीक हुए
667
मौत
9,525,668
मामले (भारत)
64,510,773
मामले (दुनिया)

India-Chian विवाद पर बोले तिब्बत की निर्वासित सरकार के PM- लद्दाख भारत का हिस्सा, सीमा पर शांति जरूरी

India-Chian विवाद पर बोले तिब्बत की निर्वासित सरकार के PM- लद्दाख भारत का हिस्सा, सीमा पर शांति जरूरी

- Advertisement -

मैक्लोडगंज। भारत (India) और चीन (China) के दरमियान लद्दाख में चल रही तनातनी के बीच तिब्बत की निर्वासित सरकार (Exile Government of Tibet) के पीएम लोबसंग सांगेय (Lobsang Sangay) ने अपना स्टैंड साफ कर दिया है। एक निजी चैनल से बातचीत के दौरान लोबसंग सांगेय ने कहा कि लद्दाख (Ladakh) भारत का अंग है। उन्होंने बताया कि हम हमेशा से यह मानते रहे हैं कि लद्दाख, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम भारत के अंग हैं। पीएम सांगेय का बयान ऐसे समय पर सामने आया है, जब तिब्बत की निर्वासित सरकार के मौन को लेकर सवाल उठने लगे थे।

चीन वहां मानवाधिकारों का लगातार उल्लंघन करता रहा है

उन्होंने अपने मौन को लेकर उठते सवालों पर कहा कि दलाई लामा पिछले 60 साल से लगातार अंतरराष्ट्रीय फोरम में चीन के खिलाफ बोलते आए हैं। चीन के तिब्बत पर कब्जा कर लेने के बाद हम भी कठिनाई में हैं। उन्होंने कहा कि तिब्बत पर चीन के कब्जे के बाद ही दोनों देशों के बीच सीमा को लेकर तनाव उत्पन्न हुआ। तिब्बत के निर्वासित सरकार के पीएम ने आगे कहा कि तिब्बत पर कब्जा करने के बाद चीन वहां मानवाधिकारों का लगातार उल्लंघन करता रहा है। इसकी वजह से हम धर्मशाला में रह रहे हैं।

यह भी पढ़ें: Survey: कांग्रेस के सबसे कम लोकप्रिय CM है अमरिंदर सिंह; लेकिन Rahul Gandhi उनसे भी पीछे

भारत कभी आक्रामक नहीं रहा है, वह डिफेंड कर रहा है

उन्होंने दलाई लामा को भारत का मेहमान बताते हुए कहा कि उनका हमेशा से यह मानना रहा है कि तिब्बत को शांति का शस्त्र बनाना चाहिए। तिब्बत के निर्वासित सरकार के पीएम ने कहा कि हमारी सीमाएं पहले सैनिक रहित थीं। सीमाओं को फिर से सेना रहित किया जाना चाहिए। इंफ्रास्ट्रक्चर डवलप नहीं करना चाहिए। उन्होंने दोनों देशों के बीच शांति को जरूरी बताते हुए कहा कि निर्धारित सीमा को ही डिफेंड करना चाहिए। भारत कभी आक्रामक नहीं रहा है। वह डिफेंड कर रहा है, जिसका हक सबको है।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है