Covid-19 Update

38,327
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
602
मौत
9,325,786
मामले (भारत)
61,598,991
मामले (दुनिया)

Akhilesh बोले – सरकार बचाने को पलटी गाड़ी, Priyanka ने कहा – संरक्षण देने वालों का क्या होगा

Akhilesh बोले – सरकार बचाने को पलटी गाड़ी, Priyanka ने कहा – संरक्षण देने वालों का क्या होगा

- Advertisement -

कानपुर। गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारा गया। पुलिस का कहना है कि यूपी एसटीएफ की टीम (UP STF team) उसे कानपुर लेकर जा रही थी। रास्ते में गाड़ी पलट गई तो दुबे ने भागने की कोशिश की और पुलिस की गोलियों का शिकार हो गया। विकास दुबे की मौत के बाद से राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। अखिलेश यादव, जयंत चौधरी, प्रियंका गांधी वाड्रा और दिग्विजय सिंह ने इस पर सवाल उठाए हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने पर कहा कि दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई है।’ वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने विकास दुबे की मुठभेड़ में मौत के बाद कहा, ‘अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको सरंक्षण देने वाले लोगों का क्या?’

 

 

 

यह भी पढ़ें: Kanpur Encounter का मास्टरमाइंड Vikas Dubey मुठभेड़ में ढेर, चार पुलिसकर्मी भी घायल

 

बीजेपी के “ठोक दो” राज में अदालतों की जरूरत ही नहीं

राष्ट्रीय लोक दल के नेता जयंत चौधरी ने मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत को लेकर कहा कि विकास दुबे के एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) के बाद देश के सारे न्यायधीशों को इस्तीफा दे देना चाहिए। बीजेपी के “ठोक दो” राज में अदालतों की जरूरत ही नहीं है। गैंगस्टर विकास दुबे ने गुरुवार को महाकाल मंदिर में आत्मसमर्पण किया था। इसे लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘यह पता लगाना आवश्यक है विकास दुबे ने मध्यप्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर को आत्मसमर्पण के लिए क्यों चुना? मध्यप्रदेश के कौन से प्रभावशाली व्यक्ति के भरोसे वो यहां उत्तर प्रदेश पुलिस के एनकाउंटर से बचने आया था?’

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री ने कहा – कानून ने किया अपना काम

हालांकि विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘कानून ने अपना काम किया है। यह उन लोगों के लिए खेद और निराशा का विषय हो सकता है जिन्होंने विकास दुबे की कल गिरफ्तारी और आज मौत पर सवाल उठाए हैं। एमपी पुलिस ने अपना काम किया। उन्होंने उसे गिरफ्तार करके यूपी पुलिस को सौंप दिया।

 

यह भी पढ़ें: विकास दुबे Encounter: एक हफ्ते से तलाश रही थी Police, गिरफ्तारी के 24 घंटे के अंदर मारा गया

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है