Covid-19 Update

38,995
मामले (हिमाचल)
29,753
मरीज ठीक हुए
613
मौत
9,390,791
मामले (भारत)
62,314,406
मामले (दुनिया)

पुलिस ने रोका तो प्रियंका गांधी बोलीं- बगैर वारंट गिरफ्तारी नहीं होती, यह तो किडनैपिंग है

पुलिस ने रोका तो प्रियंका गांधी बोलीं- बगैर वारंट गिरफ्तारी नहीं होती, यह तो किडनैपिंग है

- Advertisement -

नई दिल्ली। सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) के काफिले को नारायणपुर पुलिस स्टेशन के पास रोका दिया गया। प्रियंका गांधी को हिरासत में लेकर चुनार गेस्ट हाउस (Guest House) ले जाया गया है। उधर, यूपी के डीजीपी ने कहा कि प्रियंका गांधी को हिरासत (Custody) में नहीं लिया गया उनको सिर्फ रोका गया है। जिस पर प्रियंका गांधी ने चुनार किले पर सीओ से कहा कि बिना वारंट के गिरफ्तारी नहीं होती है। यह तो किडनैपिंग (Kidnapping) है। इसके बाद सीओ हितेंद्र कृष्ण ने कहा कि मैम बगैर वारंट के भी गिरफ्तारी हो सकती है। इसके बाद उन्हें चुनाव गेस्ट हाउस ले जाया गया।

भाई राहुल गांधी ने दिया साथ

प्रियंका गांधी के हिरासत में लिए जाने पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए एक वीडियो शेयर किया है। राहुल गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में प्रियंका गांधी को गैर-कानूनी तरीके गिरफ्तार करना विचलित करने वाला है। उन्हें मारे गए 10 आदिवासियों के परिवार जिन्होंने अपनी जमीन खाली करने से इनकार कर दिया था से मिलने से रोकना सत्ता का दुरुपयोग है। यह भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का खुलासा करती है।

यह भी पढ़ें:- सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने जा रहीं प्रियंका का काफिला रोका

इससे पहले प्रियंका गांधी ने वाराणसी के ट्रामा सेंटर में सोनभद्र की घटना में घायलों से मुलाकात की। इस दौरान सोनभद्र हत्याकांड के घायलों के परिनजनों ने प्रियंका गांधी से आपबीती सुनाई। सोनभद्र के घटना वाले इलाके में उत्तर प्रदेश प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दिया है। बता दें कि बुधवार को उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के मूर्तिया गांव में जमीन विवाद को लेकर 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी। इसमें 28 लोग घायल भी हो गए थे। बताया जा रहा है कि मूर्तिया गांव के बाहरी इलाके में सैकड़ों बीघा खेत है, जिस पर कुछ ग्रामीण पुश्तैनी तौर पर खेती करते आ रहे हैं। ग्रामीणों के मुताबिक इस जमीन का एक बड़ा हिस्सा ग्राम प्रधान यज्ञदत्त के नाम है। ग्राम प्रधान ने एक आईएएस अधिकारी से 100 बीघा जमीन खरीदी थी। जब बुधवार सुबह 11 बजे ग्राम प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर ने इस जमीन पर कब्जे करने के लिए करीब 200 लोगों और 32 ट्रैक्टरों के साथ पहुंचे और जमीन जोतने की कोशिश की, तो विवाद हो गया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है