Covid-19 Update

3744
मामले (हिमाचल)
2402
मरीज ठीक हुए
17
मौत
24,11,547
मामले (भारत)
20,850,291
मामले (दुनिया)

श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर विवाद पर SC का फैसला: त्रावणकोर शाही परिवार के अधिकार रहेंगे बरकरार

तिरुवनंतपुरम के जिला न्यायाधीश करेंगे मंदिर के मामलों के प्रबंधन वाली प्रशासनिक समिति की अध्यक्षता

श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर विवाद पर SC का फैसला: त्रावणकोर शाही परिवार के अधिकार रहेंगे बरकरार

- Advertisement -

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने केरल के तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) में ऐतिहासिक श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर विवाद को लेकर आज फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने त्रावणकोर शाही परिवार के अधिकारों को बरकरार रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि मंदिर के मामलों के प्रबंधन वाली प्रशासनिक समिति की अध्यक्षता तिरुवनंतपुरम के जिला न्यायाधीश करेंगे। बता दें कि, न्यायालय ने केरल हाईकोर्ट के 31 जनवरी 2011 के उस आदेश को रद्द किया, जिसमें राज्य सरकार से श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर का नियंत्रण लेने के लिए न्यास गठित करने को कहा गया था। दरअसल, त्रावणकोर के राजपरिवार ने केरल हाईकोर्ट के 2011 के उस फैसले को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में चुनौती दी थी जिसमें कोर्ट ने श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर के प्रशासन और संपत्ति का राज्य सरकार द्वारा अधिग्रहण का आदेश दिया था। हाईकोर्ट ने मंदिर के सभी तहखानों को खोलने का भी आदेश दिया था।


यह भी पढ़ें: केरल के पद्मनाभस्वामी मंदिर के सातवें दरवाजे का अनसुलझा रहस्य, अब तक इसे कोई नहीं खोल पाया

 

 

 

कथित वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों के मद्देनजर ऐतिहासिक मंदिर (Historical temple) के प्रशासन और प्रबंधन को लेकर विवाद पिछले नौ साल से शीर्ष अदालत में लंबित था। इस भव्य मंदिर का पुनर्निर्माण 18वीं सदी में इसके मौजूदा स्वरूप में त्रावणकोर शाही परिवार ने कराया था, जिन्होंने 1947 में भारतीय संघ में विलय से पहले दक्षिणी केरल और उससे लगे तमिलनाडु के कुछ भागों पर शासन किया था। स्वतंत्रता के बाद भी मंदिर का संचालन पूर्ववर्ती राजपरिवार द्वारा नियंत्रित ट्रस्ट करता रहा जिसके कुलदेवता भगवान पद्मनाभ (विष्णु) हैं। न्यायमूर्ति यू यू ललित और न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा की पीठ ने पिछले साल 10 अप्रैल को मामले में केरल हाईकोर्ट के 31 जनवरी, 2011 के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर अपना फैसला सुरक्षित रखा था।

मंदिर के सातवें दरवाजे का अनसुलझा रहस्य

केरल के तिरुअनंतपुरम में स्थित पद्मनाभस्वामी मंदिर (Padmanabhaswamy temple) रहस्य और अथाह खजाने की वजह से दुनियाभर में प्रसिद्ध है। इसे भारत का सबसे अमीर मंदिर भी कहा जाता है। इस मंदिर में कई गुप्त तहखाने बने हैं, जिसमें से कुछ को खोला जा चुका है और उसमें से अरबों-खरबों का खजाना भी मिला है, लेकिन इसका सातवां दरवाजा आज तक खोला नहीं गया है और ऐसा भी कहा जाता है कि कोई भी उसे खोल नहीं पाता है। बताया जाता है कि इसके पीछे एक गहरा रहस्य छुपा हुआ है। पद्मनाभस्वामी मंदिर भगवान विष्णु (Lord Vishnu) को समर्पित है। यह ऐतिहासिक मंदिर तिरुअनंतपुरम के अनेक पर्यटन स्थलों में से एक है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group  

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है