Covid-19 Update

3744
मामले (हिमाचल)
2402
मरीज ठीक हुए
17
मौत
24,11,547
मामले (भारत)
20,850,291
मामले (दुनिया)

UP के आश्रम में हुआ 10 किशोरों का यौन उत्पीड़न, महंत और शिष्‍य को भेजा गया जेल

मेडिकल जांच में चार बच्चों के साथ यौन शोषण की पुष्टि हुई थी

UP के आश्रम में हुआ 10 किशोरों का यौन उत्पीड़न, महंत और शिष्‍य को भेजा गया जेल

- Advertisement -

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में भोपा थानाक्षेत्र से एक बेहद ही शर्मनाक मामला सामने आया है। यहां के शुक्रताल में गोदिया मठ आश्रम में 7-10 वर्ष के दस किशोरों का यौन उत्पीड़न करने व उनसे जबरन काम करवाए जाने के मामले का खुलासा हुआ है। त्रिपुरा, मिज़ोरम और असम निवासी इन किशोरों को शिक्षा देने के नाम पर आश्रम लाया गया था लेकिन यहां उनसे काम कराया जाता था। गौड़ीय मठ के महंत भक्ति भूषण व उसके शिष्य श्रीधर को बच्चों का यौन शोषण (Sexual Exploitation) व मारपीट के आरोप में कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। लिस का कहना है कि स्वामी भक्ति भूषण गोविंद महाराज को आश्रम से भागने की कोशिश के दौरान गिरफ्तार किया गया।


असम का निवासी है महंत का शिष्य

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट अमित कुमार ने बताया कि आश्रम के स्वामी और अन्य के खिलाफ आईपीसी (IPC) की संबंधित धाराओं और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। मेडिकल जांच में चार बच्चों के साथ यौन शोषण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद आरोपित महंत भक्ति भूषण व शिष्य श्रीधर को शुक्रवार को मेडिकल परीक्षण के बाद कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार मठ के महंत भक्ति भूषण के शिष्य श्रीधर मूलरूप से असम के हेलाकांडी जिले के हैं और इसका असली नाम खगेनंद्र है। वर्ष 2011 में वृंदावन मठ से भक्ति भूषण महाराज इसे अपने साथ लाए थे। दीक्षा के बाद इसका नाम क्षितीपावन तथा संन्यास लेने के बाद नाम भक्ति भूषण श्रीधर महाराज हो गया। 22 वर्षीय श्रीधर ही मठ का सारा काम देखता था।

यह भी पढ़ें: Army Jawanपर नाबालिग से कुकर्म का आरोप, Police के पास पहुंचा मामला

जानें किस तरह हुआ मामले का खुलासा

जिस क्षेत्र में आश्रम है, उस क्षेत्र के लिए सर्कल अधिकारी ने बताया, ‘चाइल्डलाइन नंबर 1098 पर एक कॉल किया गया था जिसमें कहा गया था कि आश्रम में नाबालिगों के साथ बुरा बर्ताव किया जा रहा है। चाइल्डलाइन के काउंसलरों ने आश्रम का दौरा किया और परामर्श सत्र आयोजित किया और उन्हें कुछ चीजें संदिग्ध लगीं। उन्होंने पुलिस से मदद मांगी और हमने आश्रम पर छापा मारा और बच्चों को बचाया। मेडिकल जांच कराने के बाद यौन उत्पीड़न की पुष्टि हुई और शुक्रवार को उनके बयान दर्ज किए गए। स्वामी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने कहा कि कुछ नाबालिग पिछले तीन सालों से आश्रम में रह रहे हैं। नाबालिगों को अब क्वारंटीन में रखा गया है और शनिवार को उनका कोरोना वायरस परीक्षण किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है