Covid-19 Update

37,497
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
589
मौत
9,309,871
मामले (भारत)
61436,257
मामले (दुनिया)

Tibet को लेकर चीन-अमेरिका में ठनी, चीनी अफसरों के लिए बंद हुए US के रास्ते

Tibet को लेकर चीन-अमेरिका में ठनी, चीनी अफसरों के लिए बंद हुए US के रास्ते

- Advertisement -

तिब्‍बत को लेकर अमेरिका और चीन के बीच ठन गई है। अमेरिका ने चीन के खिलाफ कठोर कदम उठाया है। तिब्‍बत एक्‍ट (Tibet Act) के तहत चीनी अधिकारियों के अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Mike pompeo) ने तिब्‍बत एक्‍ट को साफ करते हुए कहा कि अमेरिका ने चीनी अधिकारियों के एक निश्चित समूह के लिए वीजा प्रतिबंधों की घोषणा की है। अमेरिका ने यह कदम तब उठाया है जब चीन ने अमेरिकी राजनयिकों एवं पर्यटकों के लिए तिब्‍बती स्‍वायत्‍त क्षेत्र (टीएआर) के अंदर प्रवेश से रोक लगा दिया है। चीन के इस कदम के बाद अमेरिका ने यह कदम उठाया है।

यह भी पढ़ें: तिब्बत कार्ड’ भारतीय इकोनॉमी के लिए नुकसानदायक: China की धमकी- Tibet मामले को ना छुए भारत

 

बीजिंग में अमेरिकियों के प्रवेश पर प्रतिबंध बाद लिया फैसला

उन्‍होंने अपने एक बयान में कहा कि यह प्रतिबंध उन चीनी अधिकारियों के लिए है जिन्‍होंने विदेशियों के लिए तिब्‍बत (Tibet ) के दरवाजे बंद किए हैं। पोम्पिओ ने कहा कि बीजिंग ने अमेरिकी राजनयिकों और अन्‍य अधिकारियों, पर्यटकों के लिए टीएआर और अन्‍य तिब्‍बती क्षेत्रों में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। चीन यात्रा में बाधा डालने के लिए कई तरह के रोड़ा उत्‍पन्‍न कर रहा है, जबकि चीनी अधिकारियों एवं अन्‍य नागरिक अमेरिका में प्रवेश का आनंद ले रहे हैं। पोम्पियो ने कहा कि वह चीनी सरकार और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंधों की घोषणा कर रहे हैं, जो तिब्बती क्षेत्रों में विदेशियों के लिए पहुंच से संबंधित नीतियों के निर्माण या निष्पादन में काफी हद तक शामिल हैं।

 

 

तिब्बती समुदायों के सतत आर्थिक विकास का काम रखेंगे जारी

हम तिब्बतियों के लिए सार्थक स्वायत्तता का समर्थन करने, उनके मौलिक और अकल्पनीय मानवाधिकारों के लिए सम्मान, और उनकी अद्वितीय धार्मिक, सांस्कृतिक और भाषाई पहचान के संरक्षण के लिए भी प्रतिबद्ध हैं। सच्ची पारस्परिकता की भावना में, हम अमेरिकी कांग्रेस के साथ मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि तिब्बती क्षेत्रों में प्रवेश क्षेत्रीय स्थिरता के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि वहां चीनी मानवाधिकारों का हनन करते हैं। पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका तिब्बती समुदायों (Tibetan communities) के सतत आर्थिक विकास, पर्यावरण संरक्षण और मानवीय स्थितियों को आगे बढ़ाने के लिए काम करना जारी रखेगा।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है