तीन तलाक पर मात खाने के बाद जुटा विपक्ष, कहा- अलोकतांत्रिक तरीके अपना रही है सरकार

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने पूछा- बिल पास हो रहा है या पिज्जा डिलिवरी हो रही है?

तीन तलाक पर मात खाने के बाद जुटा विपक्ष, कहा- अलोकतांत्रिक तरीके अपना रही है सरकार

- Advertisement -

नई दिल्ली। तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) पर राज्यसभा (Rajyasabha) में बहुमत ना होने के बावजूद भी मोदी सरकार ने इसे बड़ी आसानी से पास करा लिया। जिसके बाद अब पूरा विपक्ष (Opposition) मोदी सरकार (Modi Govt) के खिलाफ एकजुट हो गया है। कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद (Gulam Nabi Azad) ने आज राज्यसभा में आरटीआई, तीन तलाक और यूएपीए विधेयकों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सरकार ने विपक्ष को अंधेरे में रखकर ये बिल राज्यसभा से पास करवाए। बाद में विपक्षी सांसदों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और कहा कि सरकार विधेयकों के पास करवाने का अलोकतांत्रिक तरीका अपना रही है। वहीं टीएमसी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने पूछा, ‘बिल पास हो रहा है या पिज्जा डिलिवरी हो रही है?


यह भी पढ़ें:- बिल पास होते ही पति ने दिया “तीन तलाक,” पत्नी ने की खुदकुशी की कोशिश

पत्रकारों से की गई बातचीत के दौरान आजाद ने कहा कि सरकार ने बिल को स्टैंडिंग और सिलेक्ट कमिटी में नहीं भेजा। 25-27 साल में ऐसा पहली बार हो रहा है। ये हर इंस्टीट्यूशन को एक डिपार्टमेंट की तरह चलाना चाह रहे हैं। हमारा आरोप सरकार के खिलाफ है न कि राज्यसभा के सभापति के खिलाफ। हमने आरटीआई बिल के बारे में मांग की थी कि इसे सिलेक्ट कमिटी में भेजा जाए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने आगे कहा, ‘ट्रिपल तलाक और यूएपीए बिल ए कैटिगरी में थे। परसों चुपके से रात को नौ और 10 बजे के बीच से सदन में लिस्ट कर दिया गया। तब हमें पता चला कि ट्रिपल तलाक बिल आनेवाला है।’

यह भी पढ़ें: CCD मामला: मछुआरे ने कहा- 7:30 बजे एक आदमी को नदी में कूदते देखा था

कांग्रेस नेता ने कहा की बीजेपी के सांसद इसीलिए मौजूद थे क्योंकि परिस्थितियां ऐसी थीं कि उनके सांसद मौजूद हों। विपक्ष के सांसद इसलिए मौजूद नहीं थे क्योंकि समय नहीं था और विपक्ष को पता नहीं था कि कौन सा बिल आ रहा है। यह अलोकतांत्रिक है। वहीं टीएमसी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने सरकार के खिलाफ आरोप लगाते हुए कहा कि 18 बिल लोकसभा और राज्यसभा से पास हुए हैं। सिर्फ एक बिल इस सत्र में स्क्रूटिनी के लिए गया है। हम बिल को बेहतर बनाने के लिए उसकी स्क्रूटिनी की बात कह रहे हैं। पार्ल्यामेंट में क्या हो रहा है? बिल पास हो रहा है या पिज्जा डिलिवरी हो रही है? यह जल्दबाजी और लोकतंत्र के खिलाफ है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

पुलिस ने चंडीगढ़ से धरा शिमला सेक्स रैकेट का सरगना

हिमाचल की सीनियर बॉक्सिंग टीम भूटान रवाना, 24-25 को होगी प्रतियोगिता

बंद हुई दुनिया की सबसे पुरानी ट्रेवल कंपनी, खतरे में 22 हजार नौकरियां

Breaking: कांग्रेस गुरुवार को खोल देगी धर्मशाला-पच्छाद में अपने पत्ते, आज होगी "ये डवेलपमेंट"

अमेरिका में हाउडी मोदी के बाद अब पीएम मोदी का मिशन न्यूयॉर्क, ये है कार्यक्रम

चिदंबरम से मिलने तिहाड़ जेल पहुंचे सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह

धर्मशालाः नया वन-वे ट्रैफिक प्लान लागू, खनियारा से इस मार्ग से होगा आना

हिमाचल में बारिश और हिमपात ने बढ़ाई ठंडक, जाने कब तक खराब रहेगा मौसम

धर्मशाला उपचुनावः टिकट के तलबगारों की बढ़ी धुकधुकी, लंबी है फेहरिस्त

पच्छाद से उठी आवाज, गंगूराम मुसाफिर ही इस बार-बैठक कर जताई सहमति

9 मजदूरों को लेकर शिंकुला दर्रा पार कर मनाली पहुंची टेंपो ट्रैवलर

वन टाइम यूज प्लास्टिक का स्टॉक पड़ा है तो उसे निपटा लें, लगने वाला है बैन

आसमान से गिरा आग का गोला, हुआ जोरदार धमाका-इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जले

अब धारा 118 की अनुमति के लिए ऑनलाइन कीजिए आवेदन

नाला पार करते बाइक सवार के लिए तिनका नहीं टहनी बनी सहारा-वीडियो

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है