Covid-19 Update

37,497
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
589
मौत
9,309,871
मामले (भारत)
61436,257
मामले (दुनिया)

पठानकोट में तैनात किए जाएंगे दुनिया के सबसे घातक अपाचे हेलीकॉप्टर, भारत पहुंची खेप

पठानकोट में तैनात किए जाएंगे दुनिया के सबसे घातक अपाचे हेलीकॉप्टर, भारत पहुंची खेप

- Advertisement -

 

नई दिल्ली। भारतीय सेना (Indian Army) को शक्तिशाली बनाने की कड़ी में उसका अपना पहला लड़ाकू हेलीकॉप्टर अपाचे गार्जियन (Helicopter Apache Guardian) भारत पहुंच गया है। 4 अपाचे हेलीकॉप्टर की पहली खेप के तहत बोइंग एएच-64 ई अपाचे गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर उतरी। ये हेलीकॉप्टर पंजाब के पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन (Pathankot Air Force Station) में तैनात किए जाएंगे। हालांकि पठानकोट में अपाचे की पहली स्क्वाड्रन की तैनाती के लिए एक महीने और इंतजार करना होगा. यह वायुसेना के MI-35 चॉपर्स की जगह लेगा। हेलीकाप्टरों की यह आपूर्ति इन हेलीकाप्टरों के लिए करोड़ों डॉलर का सौदे होने के लगभग चार वर्षों बाद की गई है।

यह भी पढ़ें: हादसा: जागेश्वर धाम जा रहे बैंक कर्मचारियों की कार खाई में गिरी, 2 की मौत, 2 गंभीर

बोइंग ने कहा कि अपाचे हेलीकाप्टरों की पहली खेप भारत पहुंच गई है और अतिरिक्त चार हेलीकाप्टरों की आपूर्ति भारतीय वायुसेना को अगले सप्ताह की जाएगी। कंपनी ने कहा, ‘उसके बाद आठ हेलीकाप्टर पठानकोट वायुसेना स्टेशन जाएंगे जिससे कि उन्हें सितम्बर में वायुसेना में औपचारिक रूप से शामिल किया जा सके।’ बता दें कि एएच 64ई अपाचे विश्व के सबसे उन्नत बहुद्देश्यीय लड़ाकू हेलीकाप्टरों में से एक हैं जिसे अमेरिकी सेना (us Army) उड़ाती है। टू सीटर इस हेलीकॉप्टर में हेलीफायर और स्ट्रिंगर मिसाइलें लगी हुई हैं। साथ ही इसमें एक सेंसर भी लगा है जिसकी वजह से रात में भी ऑपरेशन को अंजाम दे सकता है। 365 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकने वाले इस हेलीकॉप्टर में 30 मिलीमीटर की दो गन लगी हुई हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में अब अस्थाई बिजली कनेक्शन को नहीं करना पड़ेगा इंतजार

यहां जानें इस हेलीकाप्टर की खूबियां

  1. अमेरिकी कंपनी का AH-64 अपाचे दुनिया भर में मल्टि रोल युद्धक हेलिकॉप्टर के तौर पर जाना जाता है।
  2. विमान को लंबे समय से अमेरिकी सेना में इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन अब इसका इस्तेमाल करने वाले देशों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।
  3. दुनिया भर में कंपनी ने अब तक 2,100 अपाचे हेलिकॉप्टर्स की सप्लाई की है।
  4. अमेरिकी सेना पहली बार 1984 में इस हेलिकॉप्टर को अपने बेड़े में शामिल किया था।
  5. अपाचे पहला ऐसा हेलिकॉप्‍टर है जो भारतीय सेना में विशुद्ध रूप से हमले करने का काम करेगा।
  6. भारतीय सेना रूस निर्मित एमआई-35 का इस्‍तेमाल वर्षों से कर रही है, लेकिन यह अब रिटायरमेंट के कगार पर है।
  7. अपाचे को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि दुश्‍मन की किलेबंदी को भेदकर और उसकी सीमा में घुसकर हमला करने में सक्षम है।
  8. इस घातक विमान से पीओके में आतंकी ठिकानों को आसानी से तबाह किया जा सकेगा।
  9. अमेरिका ने अपने इस अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर को पनामा से लेकर अफगानिस्तान और इराक तक के साथ दुश्मनों से लोहा लेने में इस्तेमाल किया।
  10. इजरायल भी लेबनान और गाजा पट्टी में अपने सैन्य ऑपरेशनों में इसी अटैक हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल करता रहा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है