Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

परेशानीः डिमांड तो है पर Marketing बड़ी समस्या

परेशानीः डिमांड तो है पर Marketing बड़ी समस्या

- Advertisement -

शिमला। देश में आयुर्वेद की मांग दिनों दिन बढ़ रही है, लेकिन औषधीय उत्पादों के लिए मार्केटिंग सबसे बड़ी समस्या है। ऐसे में आयुर्वेद से जुड़े लोगों को मदद करने के लिए सरकार प्रयत्नशील है। इस कार्य में मेडिसनल प्लांट बोर्ड की जिम्मेदारी अहम है। यह बात एसीएस (आयुर्वेद) निशा सिंह ने कही। मेडिसनल प्लांट बोर्ड की राष्ट्रीय कार्यशाला में निशा सिंह ने कहा कि आज जंगलों के बचाने की आवश्यकता है। जंगलों में जो-जो जड़ी बूटियां हैं उनका सही रूप में दोहन होना चाहिए।

राष्ट्रीय कार्यशाला में जंगलों को बचाने पर भी जोर

उन्होंने कहा कि हिमाचल में कई प्रकार की जड़ी बूटियां हैं, लेकिन उनका दोहन सही रूप में नहीं हो रहा। उनका कहना था कि हिमाचल के जिलों में आंवला, कूट, तूश समेत कई प्रकार के औषधीय उत्पाद हैं और इनके उत्पादन को बढ़ावा देने की जरूरत है। निशा सिंह ने कहा कि मेडिसनल प्लांट बोर्ड का दायित्व है कि वह औषधीय उत्पादों को बढ़ावा दे, जिससे आयुर्वेद से जुड़े कारोबिरायों की मांग भी पूरी हो सके और इससे किसानों को भी आर्थिक लाभ होगा। उन्होंने कहा कि कुछ राज्य इस दिशा में अच्छा कार्य कर रहे हैं और इन राज्यों से सीखने की जरूरत है।


किसानों को जागरूक करना जरूरी

बैठक में कहा गया कि किसान मेडिसनल प्लांट को लगाने की तरफ क्यों जाएगा, जब उसके सामने सेब जैसी कैश क्राप हो। इसके लिए जरूरी है कि किसानों को इसके प्रति जागरूक किया जाए और औषधीय उत्पादों को बाजार उपलब्ध करवाया जाए। इसके साथ-साथ किसानों को यह बताने की भी जरूरत है किस औषधीय पौधे को लगाने से किसानों को कितना लाभ होगा। राज्य मेडिसनल बोर्ड के नोडल आफिसर डॉ.दिनेश कुमार ने कहा कि औषधीय पौधों को लगाने और राज्य में उपलब्ध जड़ी बूटियों को बढ़ावा देने की जरुरत है और इस दिशा में प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को यह बताने का प्रयास किया जा रहा है, किस उत्पाद को लगाना लाभदायक है। उनका कहना था कि मेडिसनल प्लांट बोर्ड इस दिशा में कार्य कर रहा है।

Training: पेखूबेला में दनादन बरसी गोलियां

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है