Covid-19 Update

34,781
मामले (हिमाचल)
27,518
मरीज ठीक हुए
550
मौत
9,170,900
मामले (भारत)
59,245,882
मामले (दुनिया)

Live: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का ऐलान, 40 हजार करोड़ बढ़ाया मनरेगा का बजट, PM ई विद्या की घोषणा

Live: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का ऐलान, 40 हजार करोड़ बढ़ाया मनरेगा का बजट, PM ई विद्या की घोषणा

- Advertisement -

नई दिल्‍ली। कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी द्वारा घोषित किए गए 20 लाख करोड़ के आत्मनिर्भर राहत पैकेज को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने आज लैंड, लेबर, लक्विडिटी और लॉ पर फोक्स किया। पैकेज के बारे में जानकारी देते हुए अपनी पांचवी व आखिरी प्रेस कांफ्रेंस में वित्तमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार की योजना मनरेगा के बजट में बड़ा इजाफा किया है। मनरेगा (MGNREGA) का बजट 40 हजार करोड़ रुपये बढ़ा दिया गया है। पहले मनरेगा का बजट 61 हजार करोड़ रुपये था, अब इसमें 40 हजार करोड़ का इजाफा किया गया है।

आर्थिक पैकेज की पांचवीं किस्त में क्या-क्या देखें Live..

Gepostet von Himachal Abhi Abhi am Samstag, 16. Mai 2020

  • कोरोना वायरस से लड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग को 15 हजार करोड़ रुपये दिए गए हैं। टेस्टिंग और लैब किट के लिए 550 करोड़ रुपये दिए गए हैं। भारत अब एक दिन में 3 लाख से ज्यादा पीपीई और एन-95 मास्क बना रहा है। कोरोना काल में 11.08 करोड़ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट बनाई गई हैं।
  • हेल्थ सेक्टर के लिए अब सभी जिलों में संक्रामक रोगों के लिए हॉस्पिटल होंगे, हर प्रखंड में लैब बनाया जाएगा।
  • कोरोना वायरस से लड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग को 15 हजार करोड़ रुपये दिए गए हैं। टेस्टिंग और लैव किट के लिए 550 करोड़ रुपये दिए गए हैं। कोरोना से जंग में लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिए 50 लाख रुपये के स्वास्थ्य बीमा की घोषणा की गई है।

  • पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर डायरेक्ट ​बेनिफिट ट्रांसफर कैश का किया गया। इसके तहत 8.19 करोड़ किसानों के खाते में 2-2 हजार रुपये दिए गए हैं।
  • देश के 20 करोड़ जन-धन खातों में डायरेक्ट ​बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए 500-500 रुपये भेजे गए। उज्ज्वला योजना के तहत 6.81 करोड़ रसोई गैस धारकों को मुफ्त सिलेंडर दिया गया। इसके अलावा 2.20 करोड़ निर्माण मजदूरों को सीधे उनके खाते में पैसा दिया गया।
  • मजदूरों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाने के लिए 85 फीसदी खर्चा केंद्र सरकार दे रही है। मजदूरों को ट्रेनों में खाना दिया जा रहा है।

  • शिक्षा के क्षेत्र में ऑनलाइन एजुकेशन का इस्तेमाल किया गया है। स्वयंप्रभा डीटीएच चैनल में पहले 3 थे, उसमें 12 और नए चैनल जोड़े जा रहे हैं। लाइव इंटरएक्टिव चैनल जोड़े जा सकें इसलिए भी काम किया जा रहा है। राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे 4 घंटे का कंटेट दें, जिसे लाइव चैनलों पर दिखाया जा सके।
  • सरकार ऑनलाइन लर्निंग पर पूरा ध्यान दे रही है। इस सिलसिले में सरकार पहले क्लास से लेकर 12वीं क्लास तक के लिए एक एक चैनल लॉन्च करेगी। यानी कि हर क्लास के लिए एक चैनल होगा। बच्चों को मनोवैज्ञानिक रूप से स्वस्थ्य रखने के लिए मनोदर्पण कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। दिव्यांगों के लिए विशेष ई कंटेट लाया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है