Covid-19 Update

38,327
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
602
मौत
9,325,786
मामले (भारत)
61,598,991
मामले (दुनिया)

गोवा की पूर्व राज्‍यपाल #Mridula_Sinha नहीं रहीं, #PM_Modi – अमित शाह ने जताया शोक

राजनीति के अलावा साहित्य की दुनिया में भी काफी ऊंचा था सिन्हा का नाम

गोवा की पूर्व राज्‍यपाल #Mridula_Sinha नहीं रहीं, #PM_Modi – अमित शाह ने जताया शोक

- Advertisement -

नई दिल्‍ली। गोवा की पूर्व राज्‍यपाल और प्रतिष्ठित साहित्‍यकार मृदुला सिन्‍हा (Mridula Sinha) का आज निधन हो गया। मृदुला सिन्‍हा 77 साल की थीं। पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने मृदुला सिन्‍हा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी (#PM_Modi ) ने ट्वीट कर कहा कि मृदुला सिन्हा जी को जनता की सेवा के लिए उनके प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। वह एक कुशल लेखिका भी थीं, जिन्होंने साहित्य के साथ-साथ संस्कृति की दुनिया में भी व्यापक योगदान दिया। उनके निधन से दुखी हूं। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।

यह भी पढ़ें: नहीं रहे #HP_Central_University के रजिस्ट्रार संजीव शर्मा, Heart Attack से हुआ निधन

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि गोवा की पूर्व राज्यपाल और वरिष्ठ भाजपा नेता मृदुला सिन्हा जी का निधन बहुत दुःखद है। उन्होंने जीवन पर्यन्त राष्ट्र, समाज और संगठन के लिए काम किया। वह एक निपुण लेखिका भी थी, जिन्हें उनके लेखन के लिए भी सदैव याद किया जाएगा। उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ। ॐ शान्ति। इनके अलावा भी कई बीजेपी नेताओं ने मृदुला सिन्‍हा के निधन पर शोक जताया है।

गोवा की पहली महिला राज्यपाल थीं मृदुला सिन्हा

बिहार (Bihar) के मुजफ्फरनगर के छपरा गांव में 27 नवंबर, 1942 को जन्मीं मृदुला सिन्हा गोवा की पहली महिला राज्यपाल थीं। राजनीति के अलावा साहित्य की दुनिया में भी सिन्हा का नाम काफी ऊंचा था। वह काफी मशहूर हिंदी लेखिका थीं। उनके लेख हमेशा राष्ट्रीय अखबारों में छपते रहे हैं। उन्होंने अपने जीवन में 46 से ज्यादा किताबें लिखीं हैं। इतना ही नहीं सिन्हा राजमाता विजयराजे सिंधिया की जीवनी भी सिन्हा ने लिखी थी। राजनीतिक जीवन की बात करें तो बीजेपी की वरिष्ठ नेता सिन्हा भाजपा की महिला मोर्चा की अध्यक्ष रह चुकी हैं। उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सेंट्र सोशल वेलफेयर बोर्ड (CSWB) की चेयरपर्सन का पद भी संभाला था। इसके अलावा वे जय प्रकाश नारायण के ‘समग्र कांति’ का भी हिस्सा रहीं। सिन्हा के पति डॉक्टर राम कृपाल सिन्हा एक कॉलेज में लेक्चरर थे, जो बाद में बिहार सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है