Covid-19 Update

3874
मामले (हिमाचल)
2555
मरीज ठीक हुए
17
मौत
2,506,247
मामले (भारत)
21,179,055
मामले (दुनिया)

जिंदा जलाया नाबालिग, कहा – जय श्री राम न बोलने की मिली सजा, पुलिस ने बताया कुछ और

जिंदा जलाया नाबालिग, कहा – जय श्री राम न बोलने की मिली सजा, पुलिस ने बताया कुछ और

×

- Advertisement -

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के चंदौली में कथित रूप से जय श्री राम न बोलने पर एक नाबालिग युवक को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है। युवक की हालत गंभीर है और BHU के ट्रामा सेंटर में उसका इलाज चल रहा है। पीड़ित नाबालिग (minor) युवक का दावा है कि जय श्री राम न बोलने की सजा उसे दी गई है। हालांकि पुलिस का कहना है कि पीड़ित नाबालिग युवक बार-बार बयान बदल रहा है। चंदौली के एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा कि पीड़ित ने सबसे पहले बताया कि वो महाराजपुर गांव की ओर दौड़ने गया था जहां उसे चार लड़के मिले, ये चारों लड़के उसे खींच कर खेत की ओर ले गए और मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी।


यह भी पढ़ें :-गुरुग्राम में पुलिस कांस्टेबल पर गोली चलाने वाला गिरफ्तार 

एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा कि जब पीड़ित नाबालिग युवक से जिला अस्पताल में उसने ने बात की तो बताया कि सुनील नाम का युवक घटना में शामिल था, पीड़ित ने घटनास्थल छतेल गांव बताया। छतेल गांव मनराजपुर गांव से लगभग 2 किलोमीटर दूर है। एसपी के मुताबिक जिला अस्पताल चंदौली (Chandauli) से जब बीएचयू के लिए उसे रेफर किया गया तो उसने इंस्पेक्टर को बताया कि चार लोग थे और मोटरसाइकिल पर सवार थे और उसे उठा लिए और हतीजा गांव की ओर ले गए। पुलिस के मुताबिक ये गांव बिल्कुल अलग दिशा में है।

पुलिस ने दावा किया है कि इन तीन लोकेशन की जानकारी मिलने के बाद जब उन्होंने इन तीनों लोकेशन पर लगे सीसीटीवी के फुटेज (CCTV footage) देखे तो नाबालिग युवक उसमें नहीं दिखा। एसपी का कहना है कि तीन बजे तक इस घटना में जय श्री राम जैसी कोई बात नहीं थी। एसपी का दावा है कि कुछ लोगों ने पीड़ित और उसकी मां को बरगला दिया कि अगर इस घटना को जय श्री राम के नारे से जोड़ा जाए तो ये बड़ा मामला बन जाएगा और उसे आर्थिक मदद मिलेगा। इसके बाद इन लोगों ने पूरा रुख डायवर्ट कर दिया।

एसपी संतोष कुमार सिंह का कहना है कि जांच के दौरान पता चला कि घटनास्थल से 1.5 किलोमीटर दूर एक मजार के पास ये नाबालिग युवक सुबह 4 बजे के पास पहुंचा हो सकता है, पुलिस को वहां पर इस युवक का चप्पल रखा था और अधजले कपड़े मिले हैं। इस बीच एक पत्रकार 4 बजकर 25 मिनट पर वहां पहुंचा। पुलिस के मुताबिक ये पत्रकार सुबह अखबार लेने जा रहा था। पुलिस का दावा है कि पत्रकार ने देखा कि ये लड़का अपने ऊपर तेल लगाकर आग के गोले के रूप में भाग रहा था। उसने इसे पागल समझ लिया। पुलिस के मुताबिक दिनेश मौर्या नाम का ये पत्रकार और चश्मदीद अभी भी मौजूद है और उसका बयान लिया जा सकता है। इस पत्रकार ने बताया कि वहां कोई नहीं था। पुलिस के मुताबिक पीड़ित ने जिस सुनील नाम के कथित आरोपी का नाम लिया है उसके पिता ने पीड़ित के रिश्तेदारों के खिलाफ 2016 में मुकदमा दर्ज करवाया था। पुलिस का दावा है कि हो सकता है पीड़ित ने मजार के पास तांत्रिक क्रिया की हो या फिर अंध श्रद्धावश खुद को आग लगा लिया हो। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News















loading...


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है